UPSC परीक्षा में 159वीं रैंक लाने वाली तान्या सिंघल ने बनीं मिसाल, कैंसर मरीजों के लिए डोनेट किए 2 फीट लम्बे बाल

[ad_1]

UPSC परीक्षा में 159वीं रैंक लाने वाली तान्या सिंघल ने बनीं मिसाल, कैंसर मरीजों के लिए डोनेट किए 2 फीट लम्बे बाल

मेरठ की तान्या ने यूपीएससी की परीक्षा में 159वीं रैंक हासिल की है.

तान्या सिंघल (Tanya Singhal) का कहना है कि आगे उनके बाल बढ़ते हैं तो वो एक बार फिर से बारह इंच बाल डोनेट करेंगी. उनका कहना है कि बहुत सारे लोग अपने बाल कैंसर मरीज़ो के लिए डोनेट करते हैं और बहुत लोग तो सारे बाल दान कर देते हैं.

मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) की रहने वाली तान्या सिंघल (Tanya Singhal) ने यूपीएससी परीक्षा में 159वीं रैंक हासिल करके जिले का नाम रोशन किया है. यही नहीं तान्या ने अपने बाल कैंसर मरीज़ों के लिए डोनेट करके सभी का दिल जीत लिया. तान्या का कहना है कि कैंसर मरीज़ों को कीमोथेरपी कराना पड़ता है और कीमोथेरेपी में बाल हटा दिए जाते हैं. जब वो कैंसर पीड़ित बच्चों को देखती थीं तो उन्हें बहुत तकलीफ होती थी इसलिए उन्होंने अपनी तरफ से एक छोटा सा प्रयास किया है.

बाल बढ़ने के बाद फिर से करेंगीं डोनेट

तान्या का कहना है कि आगे उनके बाल बढ़ते हैं तो वो एक बार फिर से बारह इंच बाल डोनेट करेंगी. उनका कहना है कि बहुत सारे लोग अपने बाल कैंसर मरीज़ो के लिए डोनेट करते हैं और बहुत लोग तो सारे बाल दान कर देते हैं. तान्या ने ये सब तब किया है, जब उनकी शादी कुछ ही महीनों पहले हुई है.

शादी से हफ्ता भर पहले दिया यूपीएससी इंटरव्यूतान्या की शादी इसी साल फरवरी में हुई थी. 26 फरवरी को उनकी शादी हुई थी और 18 फरवरी को उनका यूपीएससी का इंटरव्यू हुआ था. तान्या वेस्ट मैनेजमेंट को अपनी हॉबी बताती हैं. वो लोगों से अपील भी करती हैं कि कचरे का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो वो काला सोना बन जाता है.

IAS Tanya meerut1

कैंसर मरीजों के लिए तान्या ने अपने बाल दान किए.

तीसरे प्रयास में बनी आईएएस

तान्या ने दो बार की नाकामयाबी के बाद तीसरे प्रयास में यह परीक्षा पास की है. आईएएस बनकर तान्या और उनके परिवार का खुशी का ठिकाना नहीं है. मेरठ में शास्त्रीनगर की रहने वाली तान्या के पिता मुकेश सिंघल एक बिजनेसमैन हैं. तान्या ने अपनी स्कूली शिक्षा डीएवी स्कूल में प्राप्त की है. वह कक्षा 10 में टॉपर भी रहीं थीं. वहीं, 12वीं में भी 95 प्रतिशत अंक प्राप्त करके टॉपर बनी थीं.

बीटेक के बाद एक साल नौकरी भी की

इसके बाद तान्या ने रुड़की स्थित आईआईटी से बीटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद एक साल तक उन्होंने गुरुग्राम स्थित एक मल्टीनेशनल कंपनी में भी काम किया. मगर, तान्या का सपना था कि वह सिविल सेवा की परीक्षा पास कर देश सेवा करें और आखिरकार उन्होंने देश की इस सबसे बड़ी परीक्षा में अपना परचम लहरा दिया.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *