UP: हजारों करोड़ की ठगी करने वाला शातिर गिरफ्तार, लाइक करने पर मिलता था 970 रुपए का रिटर्न

[ad_1]

UP: हजारों करोड़ की ठगी करने वाला शातिर गिरफ्तार, लाइक करने पर मिलता था 970 रुपए का रिटर्न

अभियुक्त अमित सक्सेना ने यूजर को ठगने के लिए 3 प्लान बना रखे थे. (सांकेतिक फोटो)

अभियुक्त अमित सक्सेना (Amit Saxena) ने यूजर को ठगने के लिए 3 तरह के प्लान बना रखे थे. पहले प्लान के तहत 18,000 रुपए खाते में जमा करने होते थे जोकि एक वर्ष के लिए आवंटित होता था. इसमें यूजर को 350 लाइक व क्लिक करने पर प्रतिदिन 230 रुपए का रिटर्न मिलता था.

फिरोजाबाद. फिरोजाबाद जिले (Firozabad District) में साइबर सेल ने हजारों करोड़ की ठगी करने वाले रैकेट के सरगना को गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार आरोपी कई फर्जी कंपनियां बनाकर लोगों से पहले रुपए जमा कराता था. फिर सोशल साइट्स पर लाइक और क्लीक कराके प्रतिदिन कुछ पैसा देने का झांसा देकर ठगी को अंजाम देता था. अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राजेश कुमार (Rajesh Kumar) ने बताया कि फिरोजाबाद के साइबर सेल ने फर्जीवाड़ा करने वाली कंपनी के साजिशकर्ता अमित सक्सेना (Amit Saxena) पुत्र विजय वीर सक्सेना को गिरफ्तार किया है. यह मूल रूप से धामपुर बिजनौर का रहने वाला है, लेकिन फिलहाल नोएडा में रह रहा था. वहीं से यह अपना फर्जीवाड़ा चलाता था. आरोपी अमित सक्सेना ने लोगों को ठगने के लिए तमाम फर्जी कंपनियां बना रखी थीं. यह उनका डायरेक्टर था. उत्तर प्रदेश के अलावा कई राज्यों में इसने लोगों को हजारों करोड़ का फ्रॉड करके चूना लगाया है. इसने पेवे आईटी सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड (Pave IT Solution Private Limited) कंपनी फर्जी तरीके से रजिस्टर्ड करके बनाई थी, जिसमें अमन शर्मा और वरुण गुप्ता डायरेक्टर हैं.

अभियुक्त अमित सक्सेना ने यूजर को ठगने के लिए 3 प्लान बना रखे थे. पहले प्लान के तहत 18,000 रुपए खाते में जमा करने होते थे जोकि एक वर्ष के लिए आवंटित होता था. इसमें यूजर को 350 लाइक व क्लिक करने पर प्रतिदिन 230 रुपए का रिटर्न मिलता था. दूसरा प्लान 57,000 रुपए का था इसमें 350 लाइक करने पर 670 रुपए रोजाना मिलते थे. तथा तीसरे प्लान में 1,15,000 रुपए  की धनराशि जमा करनी होती थी. इसमें यूजर को 350 लाइक करने होते थे, जिसके एवज में 970 रुपए प्रति दिन रिटर्न दिया जाता था. इसी प्रकार से अमित सक्सेना जनता के साथ ठगी करता था.

 थाना उत्तर क्षेत्र में एक फर्जीवाड़ा किया था
वहीं, कुछ सालों पहले इसने थाना उत्तर क्षेत्र में एक फर्जीवाड़ा किया था जिसमें करीब 7 लाख 52 हजार पांच सौ रुपए जमा कराके फ्रॉड किया था. साल 2017 में शिकायतकर्ता पवन कुमार पुत्र किताब सिंह निवासी कृष्णा नगर (जलेसर रोड) ने थाना उत्तर में पेवे आईटी सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी पर फ्रॉड करने का मामला दर्ज कराया था. तभी से लगातार थाना उत्तर पुलिस इस मामले की जांच कर रही थी और आरोपी को तलाश कर रही थी.चकमा देकर लगातार फरार चल रहा था
लेकिन आरोपी अमित सक्सेना पुलिस को चकमा देकर लगातार फरार चल रहा था, जिले की साइबर सेल की टीम लगातार इसको कई स्थानों पर ट्रेस भी कर रही थी. तभी पुलिस ने शनिवार को इसको गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के अनुसार, इसने लोगों के साथ हजारों करोड़ का फर्जीवाड़ा किया है.  इसके विरुद्ध कई राज्यों के थानों में ठगी और फर्जीवाड़े के मुकदमे दर्ज हैं. इस पर 11 मुकदमे दर्ज हैं. ये शातिर अपराधी है जो फर्जी कंपनियां बनाकर लोगों के साथ ठगी कर रहा था. अब मामले की जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि एक्ज़ेक्ट कितने करोड़ की धनराशि का फर्जीवाड़ा अब तक किया हैं. लगातार पुलिस इससे पूछताछ कर रही हैं कि इसके साथ और कितने लोग है जो इस तरह के फर्जीबाड़े में साथ थे. इसके पास से डेबिट कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी और 2500 रुपए नगद बरामद हुए हैं.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *