UP विधानसभा सत्र: CM योगी के संबोधन के बाद सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

[ad_1]

UP विधानसभा सत्र: CM योगी के संबोधन के बाद सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

CM योगी के संबोधन के बाद कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

योगी (Yogi) ने कहा कि विपक्ष ने जैसे तख्ती लटकाई हुई है सदन में आज, अपराधी की मेरठ में टांगी गई तख्ती की याद दिलाती है, जनता इन्हें माफ नहीं करेगी.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) शनिवार को यूपी विधानसभा (UP Assembly) के मॉनसून सत्र (Monsoon Session) शनिवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गई है. सबसे पहले पूर्व सदस्य वीरेंद्र सिंह, कुंवर बहादुर सिंह के निधन पर श्रद्धांजलि दी गई. इसके बाद सदन में सपा ने खराब क़ानून व्यवस्था पर शोर शराबा, नारेबाजी शुरू कर दी. सपा सदस्य वेल में आ गए. उधर, सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने विपक्ष के हंगामे के बाद भी सदन को संबोधित किया. सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश की सारी आबादी की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी है और हम उसको बखूबी निभा भी रहे हैं.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम लोग हर गांव में बैंकिग को मजबूत बना सकते हैं. बैंक में भीड़ नहीं लगेगी. सदन को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि यूपी में स्वच्छता के लिए सबसे ज्यादा अवार्ड यूपी को मिले हैं, मैं इसके लिए नगर विकास विभाग को बधाई देता हूं. उन्होंने कहा कि विपक्ष चर्चा का सामना नहीं करना चाहता, षड्यंत्र करना चाहता है. सभी विधायक ने 20 सालों में जो काम नहीं हुआ वो किया. अब और तीव्र गति से विकास यूपी में किया जाएगा. योगी ने कहा कि विपक्ष ने जैसे तख्ती लटकाई हुई है सदन में आज, अपराधी की मेरठ में टांगी गई तख्ती की याद दिलाती है, जनता इन्हें माफ नहीं करेगी.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने प्रदेश की कानून-व्यवसथा दुरुस्त रखने की खातिर काफी जगह पर सख्ती भी की है. हमने उपद्रव करने वालों को नहींं छोड़ा है. सीएए के विरोध में उपद्रव के दौरान सरकारी तथा निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों से हमने वसूली की है. जुर्माना देने वाले बाहर हैं, जबकि जुर्माना न भर पाने वाले जेल में हैं. हमारी ही इस नीति का अनुसरण अब अन्य राज्य भी कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमने उपद्रवियों से वसूली करने के साथ संपत्तियों की कुर्की की है. हमारी सरकार आज ही विधानसभा में उपद्रवियों के खिलाफ वसूली और संपत्ति कुर्की का विधेयक लेकर आई है.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *