Sitapur News: चोरी के आरोप के डर से युवक ने लगाई फांसी, सूइसाइड नोट में दोस्त को ठहराया जिम्मेदार

[ad_1]

मृतक हसीबमृतक हसीब
हाइलाइट्स

  • मोबाइल चोरी के आरोप और जेल जाने के डर से युवक ने लगाई फांसी
  • सूइसाइड नोट में मौत के लिए दोस्त को ठहराया जिम्मेदार, केस दर्ज
  • मृतक के दोस्त और उसके परिवार को तलाश रही है पुलिस

सीतापुर

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में मोबाइल चोरी के आरोप और जेल जाने के भय से एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। युवक ने खुदकुशी के पहले एक सूइसाइड नोट भी छोड़ा है, जिस पर उसने दो लोगों को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है।

पुलिस ने घटनास्थल से सूइसाइड नोट बरामद कर आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि मामले में मोबाइल स्वामी और उनके परिजन के खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रेरित करने की सुसंगत धाराओं में केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। घटना सीतापुर के शहर कोतवाली क्षेत्र की है। यहां के मोहल्ला कस्बा शेखसराय पटिया के रहने वाले मोलहे का 20 साल का पुत्र हसीब ने अपने दोस्त शाहिद को पांच हजार रुपये दिए थे।

कर्ज के बदले दोस्त ने दिया था अपना फोन

मिली जानकारी के मुताबिक, मृतक हसीब को दोस्त शाहिद ने 5 हजार रुपये देने के बदले उसे अपना फोन रखने के लिए दिया और साथ ही यह कहा था कि इस फोन को ऑन नही करना और न ही इसमे किसी प्रकार का कोई सिम डालना है। घटनास्थल पर मिले सूइसाइड नोट के मुताबिक मृतक के दोस्त ने अपना फोन चोरी होने की बात घर पर बताई लेकिन जब कुछ दिन तक पैसे वापस नहीं मिले तो मृतक फोन को ऑन कर चलाने लगा। इसके बाद से उस फोन पर दोस्त के परिजन के फोन आने लगे।

दोस्त के परिवार ने दी धमकी

परिजन को जब इस मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने हसीब के घर जाकर उसे धमकाया और चोरी के आरोप में जेल भिजवाने की धमकी देकर उससे मोबाइल ले लिया और बकाया 5 हजार रुपये भी बाद में देने की बात कही। मृतक के पिता के मुताबिक दोस्त और उसके परिजन ने फिर आकर हसीब को धमकाया था और सुबह तक जान से मार देने की बात कही थी। परिजन का आरोप है कि मोबाइल चोरी के आरोप के भय से आहत होकर युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

तहरीर के आधार पर पुलिस ने दोस्त और उसके परिजन के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे है।

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *