Ram Mandir: कुल 175 मेहमानों को राम मंदिर ट्रस्ट का न्योता, आडवाणी-जोशी नहीं आएंगे अयोध्या!

[ad_1]

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी अयोध्या (Ayodhya) के राम मंदिर (Ram Mandir News) भूमि पूजन समारोह में शामिल नहीं होंगे। राम मंदिर (Ram Mandir Bhumi Poojan) आंदोलन से जुड़े करीब 175 लोगों को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से निमंत्रण भेजा गया है।

Edited By Shreyansh Tripathi | नवभारत टाइम्स | Updated:

मुरली मनोहर जोशी और लालकृष्ण आडवाणी नहीं आएंगे अयोध्यामुरली मनोहर जोशी और लालकृष्ण आडवाणी नहीं आएंगे अयोध्या
हाइलाइट्स

  • मंदिर आंदोलन से जुड़े कुल 175 अतिथियों को राम मंदिर ट्रस्ट ने भेजा है आमंत्रण
  • बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के अयोध्या ना आने की चर्चा
  • वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अयोध्या के भूमि पूजन समारोह में शामिल हो सकते हैं दोनों नेता
  • देश के तमाम उद्योगपति और बीजेपी-संघ के वरिष्ठ सदस्य होंगे मंदिर के भूमिपूजन में शामिल

अयोध्या

राम मंदिर (Ram Mandir Ayodhya) के भूमि पूजन समारोह में देश के संतों, नेताओं और राम मंदिर आंदोलन से जुड़े करीब 175 लोगों को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से निमंत्रण भेजा गया है। लेकिन, राम मंदिर (Ram Janmbhoomi Movement) आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani) और मुरली मनोहर जोशी अयोध्या नहीं आएंगे। दोनों नेता विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समारोह में शामिल होंगे।

सूत्रों के मुताबिक, आडवाणी-जोशी जैसे 10 बुजुर्ग नेता और संत हैं, जो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन व शिलान्यास समारोह में शामिल होंगे। वीडियो कॉफ्रेंसिंग की व्यवस्था करने के लिए जिला प्रशासन जुटा है।

अयोध्या: भूमि पूजन से पहले ये है मोदी का प्लानअयोध्या: भूमि पूजन से पहले ये है मोदी का प्लान

कुल 175 अतिथियों को किया गया है शामिल

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के सचिव डॉ. अनिल मिश्र के मुताबिक कार्यक्रम में शामिल होंने वालों की लिस्ट कम करके 175 तक की गई है। इसमें ट्रस्ट के सदस्य लोकल जनप्रतिनिधि और अयोध्या के संत महंत मिला कर 50 लोग रहेंगे। मंदिर आंदोलन से जुड़े प्रमुख लोग और बाहर के संत महात्माओं और अतिथियों और उद्योग जगत के लोगों को मिला कर 50 लोगों को रखा गया है।

पूरे शहर में लगाए गए लाउडस्पीकर

  • पूरे शहर में लगाए गए लाउडस्पीकर

    कोरोना काल के चलते राम मंदिर के भूमि पूजन में भीड़ कम से कम रखी जाएगी। यही कारण है कि भूमि पूजन कार्यक्रम का लाइव टेलिकास्ट किया जाएगा। अयोध्यावासियों को भूमि पूजन कार्यक्रम की कमेंट्री और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन को सुनाने के लिए पूरे शहर में लाउडस्पीकर लगाए गए हैं।

  • सड़क किनारे लगेंगे फूल

    अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन का कार्यक्रम 3 अगस्त से ही शुरू हो जाएगा। पूरे शहर को फूलों से सजाने के लिए सड़क के किनारे टेंट वाले लोहे के पाइप लगाए जा रहे हैं। इन्हीं लोहे के पाइप्स पर फूलों की मालाएं और लड़ियां लगाई जा रही हैं।

  • सड़कें भी हो रही हैं दुरुस्त

    राम मंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद हिस्सा लेने वाले हैं। इसी को लेकर तैयारियों का स्तर भी काफी ऊंचा है। शहर की सड़कें भी दुरुस्त की जा रही हैं। सड़कों के गड्ढे भरकर उन्हें सुंदर बनाया जा रहा है। शहर की कई सड़कों पर तेजी से काम चल रहा है और उनकी मरम्मत करके उन्हें सुंदर बनाया जा रहा है।

  • सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने और आतंकी हमले की आशंका के तहत अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की जा रही है। जगह-जगह बैरिकेडिंग की गई है और पुलिस के साथ-साथ केंद्रीय सुरक्षा बलों के जवान भी अयोध्या की सुरक्षा कर रहे हैं। पूरे शहर की किलेबंदी की गई है और हर चौराहे पर जवान तैनात किए गए हैं।

  • दीवारें भी हो रही हैं खूबसूरत

    अयोध्या को और खूबसूरत बनाने और राम मंदिर के शिलान्यास को ऐतिहासिक और यादगार बनाने की हर संभव कोशिश की जा रही है। मंदिर परिसर के आसपास के घरों, मंदिरों और अन्य इमारतों की दीवारों को खूबसूरती से पेंट किया जा रहा है। कई जगहों पर दीवारों पर कलाकृतियां भी उकेरी गई हैं। टूटी-फूटी दीवारों की भी मरम्मत करके उन्हें खूबसूरत बना दिया गया है।

  • भूमि पूजन से पहले गा रही काशी, 'श्रीराम मंदिर बनने की पूरी है तैयारी'
  • अयोध्या में शुरू हुई दीपावली

    अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन से तीन दिन पहले ही दीपावली जैसा माहौल है। रविवार को तपस्वी छावनी आश्रम, रामघाट में श्रद्धालुओं ने जमकर दीपक जलाए। लोगों ने दीपकों की कतार से भारत का नक्शा, ऊं, स्वास्तिक और अन्य आकृतियां भी प्रदर्शित की। अयोध्या में अगले कई और दिनों तक इसी तरह का माहौल रहने की उम्मीद है।

महासचिव चंपत राय की तरफ से भेजा जा रहा निमंत्रण पत्र

भूमि पूजन में समारोह के लिए 200 लोगों की सूची पीएमओ को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से भेजी गई थी। लेकिन कोरोनावायरस संकट के चलते अतिथियों की सूची अब छोटी कर दी गई है। अब 170 लोगों को ही बुलाया जाएगा। एक अगस्त को मथुरा के संत राजेंद्र देवाचार्य और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि को निमंत्रण भेजा गया है। यह पत्र ट्रस्ट महासचिव चंपत राय की तरफ से भेजा जा रहा है। इससे पहले भाजपा की फायर ब्रांड नेता उमा भारती ने 5 अगस्त को भूमि पूजन में शामिल होने की पुष्टि कर दी है। इनके अलावा साध्वी ऋतंभरा, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने भी अयोध्या जाने की पुष्टि की है।

Web Title murli manohar joshi and lal krishna advani not in 175 guests of ayodhya bhumi poojan(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *