Kerala Plane Crash: रांची में एक प्लेन… दो बार अनहोनी लेकिन बच गए 176 यात्री, हो सकता था केरल जैसा हादसा

[ad_1]

Kerala Plane Crash: रांची में एक प्लेन... दो बार अनहोनी लेकिन बच गए 176 यात्री, हो सकता था केरल जैसा हादसाKerala Plane Crash: रांची में एक प्लेन… दो बार अनहोनी लेकिन बच गए 176 यात्री, हो सकता था केरल जैसा हादसा
हाइलाइट्स

  • रांची में दो बार क्रैश होते-होते बचा प्लेन
  • पायलट की समझ ने केरल जैसा हादसा रोका
  • प्लेन में क्रू समेत 176 यात्री थे सवार
  • पहली बार बर्ड हिट तो दूसरी बार टायर में चिंगारी

रवि सिन्हा, रांची:

केरल विमान हादसे को हुए अभी 24 घंटे भी नहीं हुए थे कि झारखंड में एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया। हैरत की बात ये है कि एक ही प्लेन के साथ 4 घंटे में दो बार हादसा हुआ। इस विमान में 150 से ज्यादा यात्री सवार थे।

पहली बार ऐसे बचा प्लेन

एयर एशिया के पायलट ने पहली बार सुझबूझ का परिचय देते हुए बर्ड हिट की आशंका को देखते हुए ब्रेक लगाकर विमान को सुरक्षित तरीके से रोक लिया। रांची स्थित बिरसा मुंडा एयरपोर्ट के निदेशक के मुताबिक मुंबई जाने वाले एयर एशिया के विमान पर 176 यात्री और क्रू मेंबर सवार थे और सभी सुरक्षित हैं। उन्होंने विमान में किसी तरह की तकनीकी खराबी होने से इनकार करते हुए बताया कि पायलट को रनवे पर उड़ान पहले कुछ तकनीकी दिक्कतों का अहसास हुआ, जिसके बाद विमान को उड़ान भरने से पहले ही रोक लिया गया।

देखें वीडियो…

केरल प्लेन क्रैश: वो शख्स जिसने प्लेन को खाई में गिरते देखाकेरल प्लेन क्रैश: वो शख्स जिसने प्लेन को खाई में गिरते देखा

दूसरी बार टायरों से निकली चिंगारी

पहली बार हादसे से बचने के एक से दो घंटे के बाद विमान ने दूसरी बार उड़ान भरी। लेकिन इस दफा पहले से बड़ा हादसा इंतजार कर रहा था। दोबारा उड़ान भरने के लिए रनवे पर कुछ दूर दौड़ने के क्रम में विमान के पहिए में चिंगारी निकली और जोर का धमाका हुआ। इसके बाद पायलट ने फौरन इमरजेंसी ब्रेक लगा दिया गया। वहीं विमान में चिंगारी निकलते देख तत्काल दो दमकल वाहन मौके पर पहुंच गये। इससे पहले भी इसी प्लेन को तकनीकी गड़बड़ी या बर्ड हिट की आशंका के मद्देनजर उड़ान भरने के पहले ही रोक लिया गया था।

एयरपोर्ट के निदेशक का बयान

एयरपोर्ट के निदेशक ने बताया कि तकनीकी जांच के बाद ही गड़बड़ी के कारणों के बारे में पूरी जानकारी मिल पाएगी। उन्होंने बताया कि बर्ड हिट के कारण भी यह गड़बड़ी हो सकती है, लेकिन जांच पूरी होने के बाद ही तस्वीर पूरी साफ हो सकती है। निदेशक ने यह भी जानकारी दी कि देश में रांची एयरपोर्ट ही एक मात्र ऐसा एयरपोर्ट है, जिसने बर्ड हिट जैसी घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए रांची स्थित बिरसा कृषि विश्वविद्यालय से रिपोर्ट तैयार करने का आग्रह किया है।

वीडियो देखें…

केरल प्लेन क्रैश: मौके पर पहुंचे पुरी, बताया- कैसे हुआ हादसाकेरल प्लेन क्रैश: मौके पर पहुंचे पुरी, बताया- कैसे हुआ हादसा

उन्होंने कहा कि यह रिपोर्ट अब तक जा जानी थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण अब तक रिपोर्ट नहीं मिल पाई है। 31 अगस्त तक इसके मिलने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट मिल जाने के बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी की ओर से बर्ड हिट पर अंकुश लगाने को लेकर ठोस पहल की जाएगी। उन्होंने बताया कि पिछले साल बर्ड हिट यानि पक्षी से टकराने की 5 घटनाएं हुई थीं, लेकिन इस साल पांच महीने में सिर्फ एक बर्ड हिट हुआ है।

केरल प्लेन क्रैश हादसे का अपडेट यहां पढ़ें… Kerala plane crash: एक मृत यात्री निकला कोरोना पॉजिटिव, घायलों से मिल भी नहीं सकेंगे अपने

केरल हादसे में अपडेट

केरल में शुक्रवार शाम दुबई से आ रहा एयर इंडिया का विमान क्रैश हो गया। विमान में 190 लोग सवार थे। इनमें से तकरीबन 18 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में दो पायलट भी शामिल हैं। हादसे में घायल 149 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बाकी लोगों को घर जाने दिया गया है। केंद्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इसकी जानकारी दी। मंत्री ने हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिजन को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है। वहीं गंभीर रूप से घायलों को 2-2 लाख रुपये तथा मामूली रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी।

ऐसे हुआ केरल में प्लेन क्रैश

जानकारी के मुताबिक, केरल का कोझिकोड एयरपोर्ट भौगोलिक रूप से ‘टेबलटॉप’ है। कहने का मतलब है कि इस एयरपोर्ट के रनवे के आस-पास घाटी होती है। ऐसे में टेबलटॉप में रनवे खत्‍म होने के बाद आगे ज्‍यादा जगह नहीं होती है। इसके चलते कोझिकोड एयरपोर्ट में रनवे पर फिसलने के बाद विमान घाटी में 35 फीट जा गिरा। नीचे गिरते ही विमान दो टुकड़ों में बंट गया। हादसे में विमान बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ, मगर गनीमत रही कि इसमें आग नहीं लगी। जानकारी के मुताबिक, विमान दुर्घटना शुक्रवार शाम 7.41 बजे हुई।

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *