Ayodhya Ram Mandir: भूमि पूजन में नहीं शामिल होंगे राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख स्तंभ लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी!


Edited By Aishwary Rai | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी (फाइल फोटो)

लखनऊ

राम मंदिर आंदोलन के दो प्रमुख स्तंभ रहे बीजेपी के सीनियर नेता लालकृष्ण आडवाणी (Lalkrishna Advani) और मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi) के अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन (Ram Mandir Bhoomi Pujan) कार्यक्रम में शामिल हो पाने की संभावना नहीं है। सूत्रों के मुताबिक 5 अगस्त को होने वाले कार्यक्रम में कोई इंडस्ट्रियलिस्ट या हाई प्रोफाइल एनआरआई गेस्ट भी नहीं सम्मिलित होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे। इस कार्यक्रम के लिए गेस्ट सीमित संख्या में बुलाए गए हैं। हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को मिली जानकारी के अनुसार राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख चेहरे पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और पूर्व एचआरडी मंत्री मुरली मनोहर जोशी का अयोध्या आने का प्रोग्राम नहीं है।

पढ़ें:बाबरी विध्वंस केस में आडवाणी ने खुद को बताया बेकसूर

5 अगस्त के कार्यक्रम में जिन्हें शामिल होना है, उनमें पीएम मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ, राष्ट्रीय स्वयंसेवक प्रमुख मोहन भागवत, वीएचपी नेता तथा मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, राम जन्मभूमि न्यास के हेड महंत नृत्यगोपाल दास शामिल हैं। भूमि पूजन कार्यक्रम का लाइव प्रसारण किया जाएगा। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी का संबोधन भी होगा।

पढ़ें:‘राम मंदिर की पहली ईंट रखकर मैंने मोक्ष प्राप्त कर लिया’

पीएम मोदी वायु सेना के स्पेशल विमान से लखनऊ में लैंड करेंगे। इसके बाद चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट से MI-7 चॉपर के जरिये अयोध्या के लिए रवाना होंगे। भूमि पूजनस्थल पर जाने से पहले पीएम के हनुमानगढ़ी मंदिर जाने की भी संभावना है। इसके बाद वह परिजात के पौधे का रोपण कर भूमिपूजन करेंगे। सूत्रों के अनुसार पीएम इसके बाद भगवान राम की जिंदगी पर पोस्टल स्टैंप भी जारी करेंगे।

पढ़ें:हिंदुओं का हक था राम मंदिर, उन्हें मिला- वसीम रिजवी

सीएम योगी लखनऊ से ही पीएम के साथ रहेंगे। वह लकड़ी से बनी श्रीराम की मूर्ति भी पीएम को सौंपेंगे। इस कार्यक्रम से पहले पूरे अयोध्या में सुरक्षा के चाक-चौबंद इस्तेमाल कर दिए गए हैं। सजावट का काम भी जारी है। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने खुद व्यवस्था का जायजा लिया।



Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *