Ayodhya Ram Mandir: भूमि पूजन पर ‘त्रेतायुग’ जैसा भव्य माहौल बनाने की तैयारी…जब वनवास से लौटे थे भगवान राम

[ad_1]

राम मंदिर भूमि पूजन से 2 दिन पहले ड्रोन से देखें अयोध्या नगरीराम मंदिर भूमि पूजन से 2 दिन पहले ड्रोन से देखें अयोध्या नगरी
हाइलाइट्स

  • राम मंदिर भूमि पूजन पर अयोध्या में भव्य तैयारी
  • रंगोली, चौपाई, 3D पेंटिंग, फूल से हो रही सजावट
  • अवध यूनिवर्सिटी के 80 छात्र सजावट के काम में लगे

अयोध्या

14 साल के वनवास के बाद भगवान राम जब अयोध्या वापस लौटे थे, तो पूरी नगरी को सजा दिया गया था। अब राम मंदिर भूमि पूजन से पहले भी अयोध्या में ‘त्रेतायुग’ जैसा माहौल ही तैयार किया जा रहा है, जिसका वर्णन रामायण में है। डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अवध यूनिवर्सिटी के 80 छात्रों को इस कार्य के लिए चुना गया है।

विशेष सजावट के लिए 3 जगहों का चयन

रामायण की चौपाइयों के साथ ही रंगोली और 3D पेंटिंग बनाने के लिए तीन जगहों का चयन किया गया है। गर्भ गृह से कुछ मीटर की दूरी पर स्वास्तिक, ओम, कलश, मोर, मछली जैसी आकृतियां उभार रहे हैं। दूसरी जगह होगी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्टेज के सामने, जहां वह भूमि पूजन के बाद देश को संबोधित करेंगे। यहां दिये की थीम के साथ D शेप में रंगोली तैयार की जाएगी।

अयोध्या में भूमि पूजन के लिए सजावट, सुरक्षा के बीच पहुंचने लगे मेहमान, देखिए LIVE अपडेट

चौपाई, 3D पेंटिंग, रंगोली से भव्य सजावट

तीसरी रंगोली भूमि पूजन के स्थान पर बनेगी। यहां फूलों और रंगो के जरिये ‘भए प्रगट कृपाला’ चौपाई लिखी जाएगी। ठीक दूसरी तरफ ‘जय श्री राम’ लिखा रहेगा। पूजन स्थल पर चरण पादुका भी तैयार की जाएगी। राम जन्मभूमि पूजन पर बिल्कुल ‘त्रेतायुग’ के माहौल की तैयारी की जा रही है। इस ऐतिहासिक मौके को यादगार बनाने की पूरी तैयारी की जा रही है।

देश-विदेश के फूलों से सजेगी अयोध्या नगरी

अयोध्या में राम मंदिर के ‘भूमि पूजन’ के मौके पर शहर को लगभग 400 क्विंटल फूलों से सजाया जाएगा। इस बहुप्रतीक्षित मौके के लिए देश के कई शहरों और विदेश से भी फूल मंगाए गए हैं। बेंगलुरु के ग्रामीण इलाकों में उगाए जाने वाले नीले ‘अपराजिता’ (विष्णुकांता) के फूलों को लाया जा चुका है। इसके अलावा नारंगी और लाल रंग के डबल-टोंड गेंदा के फूल कोलकाता से लाए जा रहे हैं, जबकि ऑर्किड फूल थाईलैंड से आयात किए जा रहे हैं।

चुने गए अवध यूनिवर्सिटी के 80 स्टूडेंट्स

भूमि पूजन स्थल और आसपास के मंदिरों को सजाने के लिए लगभग 600 किलोग्राम लाल और गुलाबी गुलाब, 240 किलोग्राम गेरबेरा और 300 किलोग्राम कार्नेशन भी यहां लाए जा रहे हैं। राम मनोहर लोहिया फैजाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा इस पवित्र शहर में 50 से अधिक स्थानों पर ‘रंगोली’ बनाने के लिए भी फूलों का उपयोग किया जाएगा।

अयोध्या में जोर-शोर से तैयारी

अयोध्या में जोर-शोर से तैयारी

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *