होनहार छात्रा सुदीक्षा भाटी की सड़क दुर्घटना में मौत, अमेरिका के बॉबसन कॉलेज ने दी थी 4 करोड़ की स्कॉलरशिप

[ad_1]

होनहार छात्रा सुदीक्षा भाटी की सड़क दुर्घटना में मौत, अमेरिका के बॉबसन कॉलेज ने दी थी 4 करोड़ की स्कॉलरशिप

अमेरिका के बॉबसन कॉलेज की स्टूडेंट सुदीक्षा भाटी की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई (फ़ाइल तस्वीर)

बेहद साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाली सुदीक्षा भाटी ने अपनी मेहनत के बलबूते अमेरिका के बॉबसन कॉलेज से भारी-भरकम स्कॉलरशिप हासिल की थी. सुदीक्षा ने 5वीं तक की पढ़ाई डेरी स्टनर गांव के प्राइमरी स्कूल से की थी.

ग्रेटर नोएडा. अमेरिका के बॉबसन कॉलेज (Bobson College of America) की स्टूडेंट सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati) की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई. बताया जा रहा है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus Pandemic) के चलते सुदीक्षा इंडिया वापस आ गई थीं. सोमवार की सुबह वो अपने मामा से मिलने चाचा सतेंद्र भाटी के साथ स्कूटी से सिकंदराबाद जा रही थीं. नेशनल हाईवे पर औरंगाबाद गांव के पास उनकी स्कूटी को तेज रफ़्तार बाइक सवार ने टक्कर मार दी. इस हादसे में सुदीक्षा की मौत हो गई है जबकि उनके चाचा सतेंद्र भाटी को गंभीर चोटेंआई हैं.

शुरू से ही पढ़ाई में बेहद होशियार थीं सुदीक्षा
बेहद साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाली सुदीक्षा भाटी ने अपनी मेहनत के बलबूते अमेरिका के बॉबसन कॉलेज से भारी-भरकम स्कॉलरशिप (लगभग 4 करोड़) हासिल की थी. सुदीक्षा ने 5वीं तक की पढ़ाई डेरी स्टनर गांव के प्राइमरी स्कूल से की थी. पढ़ाई में शुरू से ही अव्वल सुदीक्षा का चयन साल 2011 में विद्याज्ञान लीडरशिप एकेडमी स्कूल में कक्षा 6 के लिए हुआ. डेरी स्कनर गांव के रहने वाले चाय विक्रेता जितेंद्र भाटी की बेटी सुदीक्षा भाटी ने एचसीएल फाउंडेशन के स्कूल विद्या ज्ञान से आगे की पढ़ाई की. 2018 की सीबीएसई बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा में सुदीक्षा ने 98 प्रतिशत अंक हासिल किए. फिर सुदीक्षा को अमेरिका के बॉबसन कॉलेज से आगे की पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप मिली.

ये भी पढ़ें- कैसे बना मुख्तार अंसारी गैंग का मुख्य शूटर राकेश पांडेय उर्फ हनुमान, जानें अपराध की दुनिया की Inside Story

उन्होंने अगस्त 2018 में बॉबसन कॉलेज ऑफ एंटरप्रेन्योरशिप (Bobson College of Entrepreneurship) में दाखिला लिया था. फिलहाल सुदीक्षा बॉबसन कॉलेज से Entrepreneurship में ग्रेजुएशन कर रही थीं. बॉबसन कॉलेज से स्कॉलरशिप मिलने पर सुदीक्षा ने कहा था कि उनका सपना सच हो गया. सुदीक्षा की असमय मौत ने उनके पूरे परिवार को झगझोर के रख दिया है.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *