स्वच्छता सर्वेक्षण-2020 में सबसे ज्यादा 19 पुरस्कार जीतकर UP ने दिखाया दम

[ad_1]

लखनऊ. अखिल भारतीय स्तर पर कराए गए स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 (Swachh Suvekshan-2020) में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के 19 निकायों ने विभिन्न श्रेणियों में देश के दूसरे निकायों को पीछे छोड़ते हुए सम्मान हासिल किया है. इस उपलब्धि के साथ ही उत्तर प्रदेश स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 में देश में सबसे ज्यादा पुरस्कार पाने वाला राज्य बना है. प्रदेश के कुल 19 नगर निकायों, जिनमें 2 कैंट क्षेत्र भी शामिल हैं, को यह सम्मान मिला है. वहीं टॉप 12 अवॉर्ड में से 2 पर यूपी काबिज हुआ है.

अवार्ड का कार्यक्रम आज 20 अगस्त को 11 बजे वर्चुअल शुरू हुआ. इसमें हरदीप पुरी, मंत्री, आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा स्वच्छ भारत मिशन से जुड़े फिरोजाबाद नगर में कार्य कर रहे स्वयं सहायता समह के प्रतिनिधियों से बातचीत भी की गई.

वाराणसी और शाहजहांपुर सबसे आगे

इसमें देश के 12 स्वच्छ शहरों को पुरस्कृत किया गया. इसमें यूपी से 2 नगर निगम, वाराणसी और शाहजहांपुर को ये सम्मान मिला. वहीं बाकी 17 निकायों में लखनऊ, फिरोजाबाद, कन्नौज, चुनार, गंगाघाट, आवागढ़, मेरठ कैंट, गजरौला, मुरादनगर, स्याना, पलियाकलां, मल्लावां, बरुआसागर, बकेवर, बलदेव, अछलदा और मथुरा कैंट को पुरस्कार मिला.साल दर साल दिख रहा बड़ा सुधार

बता दें इससे पहले 2018 में यूपी से 3 निकायों और 2019 में 14 निकायों को ये सम्मान मिला था. अब ये संख्या बढ़कर 19 हो गई है.  बता दें यूपी में व्यक्तिगत शौचालयों का लक्ष्य शत-प्रतिशत पूर्ण करने का दावा सरकार ने किया है. वहीं लगभग 60 हजार सीटों के सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराया गया है. प्रदेश के सभी निकाय खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं.

कई शहरों ने सुधारी रैंकिंग

इसके अलावा पुरस्कार समारोह में स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 परिणाम डैश बोर्ड का लोकार्पण भी किया गया. 10 लाख से अधिक आबादी वाले नगरों की श्रेणी में प्रदेश के कई शहरों ने अपनी रैंकिंग में सुधार किया है. इनमें लखनऊ 12वें, आगरा 16वें, गाजियाबाद 19वें, प्रयागराज 20वें, कानपुर 25वें और वाराणसी 27वें स्थान पर है.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *