सांसद संजय सिंह के बिगड़े बोल, कहा- योगी जी बचकाना खेल बंद करो, लखनऊ में हूं गिरफ्तार करो

[ad_1]

लखनऊ. आम आदमी पार्टी (AAP) के सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) ने रविवार को आरोप लगाया कि योगी सरकार (Yogi Government) के कहने पर पुलिस ने लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय में ताला लगवा दिया है. संजय सिंह ने कहा, ”आम आदमी पार्टी का दफ्तर बंद कर सकते हैं योगी जी, लेकिन सच की आवाज नहीं बंद हो सकती. आपके जुल्म-ज्यादती के खिलाफ बोलता रहा हूं और बोलता रहूंगा. बचकाना खेल खेलना बंद करो, लखनऊ में हूं गिरफ्तार करो.” पुलिस के सूत्रों ने बताया कि आम आदमी पार्टी का जिस जगह पर दफ्तर है उसका रेंट एंग्रीमेंट नहीं है.

संजय सिंह ने कहा कि वह लखनऊ में हैं, योगी सरकार उन्हें गिरफ्तार करके जेल भेज दे. AAP के राज्य सभा सांसद ने कहा कि योगी सरकार के कहने पर ही उनके खिलाफ यूपी के 5 जिलों में एफआईआर दर्ज की गई हैं. उन्होंने योगी सरकार पर तंज कसा, ”आपसे अपराध रुकता नहीं, हत्या की घटनाएं रुकती नहीं. बलात्कार की घटनाएं नहीं रुक रही हैं. अपहरण की घटनाएं नहीं रुक रही हैं. आप विपक्ष की आवाज दबाना चाहते हैं? योगी जी आप तानाशाही और डंडे से उत्तर प्रदेश को चलाना चाहते हैं?”

संजय सिंह ने आगे कहा, ‘मैं योगी सरकार से कहूंगा कि प्रदेश के सभी 1700 थानों में मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दें, फिर भी मैं डरने वाला नहीं हूं. बिगड़ती कानून व्यवस्था, महंगी बिजली और जनता के साथ हो रहे अन्याय का मुद्दा लगातार उठाता रहूंगा. जरूरत पड़ेगी तो सड़क से कार्यालय चलाएंगे. आज ब्राह्मण समाज के लोग चिंतित हैं और उनके साथ अन्याय हो रहा है. ओम प्रकाश राजभर ने कल भी हमसे मुलाकात की है. कई समाज के लोग उनके साथ हैं. ये भी पढ़ें- प्रतापगढ़ में दिनदहाड़े पिता-पुत्र की पीट-पीटकर हत्या, दरोगा समेत 3 पुलिसकर्मी निलंबित

संजय सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो जारी किया है, जिसमें वह कर रहे हैं, ”इस वक्त मैं आम आदमी पार्टी के कार्यालय पर हूं. पिछले कुछ दिनों से मैं लगातार योगी सरकार के खिलाफ सच बोलने की जो हिम्मत दिखा रहा हूं, जो लगातार इनके खिलाफ आवाज उठा रहा हूं, उसके कारण इन्होंने मकान मालिक पर दबाव बनाने की कोशिश की और हमारे पार्टी का कार्यालय बंद करवा दिया.”

योगी जी विजय मिश्रा के साथ पनीर खा रहे थे

बाहुबली विधायक विजय मिश्रा की गिरफ्तारी के सवाल पर भी संजय सिंह ने कहा कि जब राज्यसभा चुनाव का वक्त था तब यही विजय मिश्रा, योगी जी के साथ पनीर खा रहे थे. उस समय उनके लिए वह अपराधी नहीं थे. क्योंकि उनके वोट से राज्यसभा की चुनाव को जीतना था, अब वह अपराधी हो गए हैं.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *