वीरता की मिसाल बनें ये जवान…1 कीर्ति, 9 शौर्य चक्र समेत कुल 84 वीरता पुरस्कार

[ad_1]

नई दिल्ली
राष्ट्रपति और भारत के सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर रामनाथ कोविंद ने 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सशस्त्र बलों के कर्मियों और अर्धसैनिक बलों के सदस्यों को 84 पुरस्कारों की मंजूरी दी है। इस साल के पुरस्कारों में केवल एक ही कीर्ति चक्र शामिल है, जो अब्दुल रशीद कालस को मरणोपरांत दिया गया है। अब्दुल रशीद जम्मू-कश्मीर में हेड कांस्टेबल के पद पर थे।

नौ शौर्य चक्र से सम्मान
वीरता दिखाने वाले जांबाजों को नौ शौर्य चक्र से भी सम्मानित किया जाएगा। इनमें से तीन भारतीय सेना, एक भारतीय वायुसेना और शेष पांच केंद्रीय गृह मंत्रालय में अंतर्गत प्रदान किए जाएंगे। सेना को मिलने वाले पुरस्कारों में एक पैराशूट रेजिमेंट (स्पेशल फोर्सेस) की पहली बटालियन, एक मराठा लाइट इन्फैंट्री की चौथी बटालियन और एक पुरस्कार राजपूत रेजिमेंट की 44वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स को मिलने जा रहा है। भारतीय वायुसेना को मिलना वाला एक शौर्य चक्र विंग कमांडर विशाख नायर के लिए है।

जम्मू कश्मीर में वीरता की मिसाल बनें जवानों को वीरता पुरस्कार

पांच शौर्य चक्रों में एक मरणोपरांत
केंद्रीय गृह मंत्रालय के पास गए पांच शौर्य चक्रों में से केवल एक को मरणोपरांत दिया जा रहा है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के उप महानिरीक्षक अमित कुमार को यह सम्मान दिया गया है। पांच सैन्यकर्मियों को वीरता के लिए दूसरी बार सेना पदक, 60 को सेना पदक (वीरता), चार को नौसेना पदक (वीरता) और पांच को वायुसेना पदक (वीरता) के लिए चुना गया है।

19 सैन्यकर्मियों को मेंशन-इन-डिस्पैच

राष्ट्रपति कोविंद ने विभिन्न सैन्य अभियानों में उल्लेखनीय योगदान के लिए 19 सैन्यकर्मियों को मेंशन-इन-डिस्पैच दिए जाने की भी मंजूरी दी है। इनमें से आठ को ऑपरेशन मेघदूत और ऑपरेशन रक्षक के लिए मरणोपरांत दिया गया है।

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *