वाराणसी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर कारतूस के साथ पकड़ा गया प्रशिक्षु क्रिकेटर, देवरिया का है निवासी

[ad_1]

वाराणसी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर कारतूस के साथ पकड़ा गया प्रशिक्षु क्रिकेटर, देवरिया का है निवासी

वाराणसी एयरपोर्ट पर एक ट्रेनी क्रिकेटर कारतूस के साथ पकड़ा गया है.

वाराणसी (Varanasi) के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (Lal Bahadur Shastri International Airport) पर सीआईएसएफ ने एक नाबालिग प्रशिक्षु क्रिकेटर को कारतूस के साथ पकड़ा. युवक देवरिया का रहने वाला है.

वाराणसी. उत्तर प्रदेश में वाराणसी (Varanasi) के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (Lal Bahadur Shastri International Airport) पर एक नवोदित क्रिकेटर जिंदा कारतूस संग पकड़ा गया है. सीआईएसएफ ने उसे पकड़कर फूलपुर थाना पुलिस को सौंप दिया. पुलिस ने युवक का चालान कर दिया. पता चला कि युवक नाबालिग है. वह देवरिया (Deoria) जिले का रहने वाला है. युवक हैदराबाद स्थित क्रिकेट अकादमी में तीन साल से प्रशिक्षण ले रहा है.

पता चला कि कोरोना संक्रमण के कारण पिछले दिनों छुट्टियों पर घर आया हुआ था. अभी वो हैदराबाद वापस जा रहा था. इंडिगो फ्लाइट में उसकी टिकट बुक थी लेकिन एक्सरे चेकिंग के दौरान युवक पकड़ा गया. बताया जाता है कि पर्स में जिंदा कारतूस लेकर प्रारंभिक जांच को पार करते हुए वो चेक इन एरिया तक पहुंच गया लेकिन सिक्योरिटी होल्ड एरिया में जैसे ही वो प्रवेश करने को आगे बढ़ा तो एक्सरे जांच के दौरान सुरक्षाकर्मियों को पर्स मे कुछ संदिग्ध होने का शक हुआ. तलाशी में उसकी पर्स से .32 बोर का कारतूस मिला.

बताया- रास्ते में बस की फर्श पर कारतूस मिला

सवाल ये भी खड़ा होता है कि कारतूस लेकर युवक प्रारंभिक जांच को पार करते हुए चेक इन एरिया तक कैसे पहुंचा? हालांकि कारतूस मिलने के बाद एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ के सुरक्षा जवानों ने उसे हिरासत में लेकर फूलपुर थाना पुलिस को सूचना दी. फूलपुर थाना पुलिस ने युवक को हिरासत में लेकर जब पूछताछ की तो युवक ने बताया कि देवरिया से आते हुए उसे बस की फर्श में ये कारतूस मिला, जिसे उसने उठा लिया.इससे पहले भी असलहा और कारतूस हुए हैं बरामद

फूलपुर थाना प्रभारी सरवर अली ने बताया कि मामले में मुकदमा दर्ज कर युवक का चालान कर दिया गया है हालांकि एयरपोर्ट पर कारतूस और असलहा मिलने की ये पहली घटना नहीं है. इसी साल 12 जनवरी बिहार के मझियावा निवासी ओमप्रकाश शर्मा कारतूस संग पकड़े गए थे. उससे पहले साल 2018 में ऐसे दो केस सामने आए थे. जिनमें 24 अगस्त 2018 को भदोही के कुमुद सिंह को देशी रिवाल्वर के साथ पकड़ा गया था, जबकि उसी साल एक अक्टूबर को बलिया के फेफना निवासी शुभम मिश्रा के पास भी कारतूस बरामद हुआ था.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *