वर्दी का रौब दिखाकर रुपये वसूलता था सिपाही, टेंपो चालक ने Video बनाकर किया Viral

[ad_1]

वर्दी का रौब दिखाकर रुपये वसूलता था सिपाही, टेंपो चालक ने Video बनाकर किया Viral

आरोपी सिपाही पर अब कार्रवाई की तैयारी की जा रही है.

यूपी के बदायूं में एक सिपाही (Sepoy) का वीडियो वायरल (Video Viral) हुआ है, जिसमें वह टेंपो चालक से रुपये लेता दिख रहा है. आरोप है कि ये सिपाही रोजाना इसी तरह चालकों से रुपये वसूलता था. एक चालक ने ही सिपाही की अवैध वसूली का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया.

बदायूं. उत्तर प्रदेश में बदायूं (Badaun) के मूसाझाग थानाक्षेत्र में टेंपो चलवाने के नाम पर सिपाही (Sepoy) द्वारा अवैध वसूली करने का मामला सामने आया. आरोपी सिपाही का नाम राधेश्याम है और वह थाने में चालक के पद पर तैनात है. इसके लिए उसने एक रजिस्टर भी बना रखा था. उस रजिस्टर में टेम्पो का नंबर लिखकर रोजाना चालकों (Tempo Drivers) से 300 से 400 रुपये तक वसूला करता था. और अगर कोई  कम देता था तो वह झगड़ा करने लगता था.

सिपाही के रोज-रोज के इस रवैये से परेशान एक टेंपो चालक ने अवैध वसूली का वीडियो बना लिया. वीडियो में सिपाही टेंपो चालक से रुपये मांगता दिखाई दे रहा है. टेंपो चालक 200 रुपये दे रहा है, पर सिपाही 300 मांग रहा है. और  टेंपो चालक को यह भी धमकी दे रहा है कि अगर तुमने पूरे पैसे नहीं दिए तो 20000 का चालान काट देंगे. बाद में सिपाही 200 रुपये ले लेता है.

चालक ने वीडियो बनाकर किया वायरल 

पीड़ित चालक ने सिपाही का यह वीडियो बनाकर वायरल कर दिया. आरोप के मुताबिक सिपाही की जब से तैनाती हुई है, तब से वह उगाही करता चला आ रहा है. पूर्व के थानाध्यक्षों और वर्तमान थानाध्यक्ष के द्वारा कई बार उसे चेतावनी दी गई, मगर वह मानने को तैयार नहीं हुआ.सिपाही पर कार्रवाई की तैयारी

अब वीडियो वायरल होने पर सीओ उझानी अनिरुद्ध सिंह ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है. मूसाझाग थाने का सिपाही राधेश्याम वीडियो में दिख रहा है और रुपये इकट्ठा कर रहा है. इसकी जांच शुरू हो गई है. और कौन-कौन लोग इसमें शामिल हैं. उसकी भी जांच होगी. जिस रजिस्टर में रुपए को लेकर एंट्री की जाती थी, उसे जब्त किया जाएगा. टेम्पो चालकों का बयान दर्जकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए एसएसपी को लिखा जाएगा.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *