लाल किले की प्राचीर से सैनिटरी नैपकिन का जिक्र, पीएम मोदी ने टैबू तोड़ा तो खूब हुई तारीफ

[ad_1]

नई दिल्ली
74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अपने संबोधन में पीएम नरेंद्र मोदी ने महिलाओं के लिए सैनिटरी नैपकिन की सस्ती पहुंच के लिए सरकार के प्रयासों का विशेष तौर पर जिक्र किया। इसे ‘पीरियड’ से जुड़ी वर्जनाओं को तोड़ने की दिशा में उठाए गए एक बेहद खास कदम के तौर पर देखा जा रहा है। इसे लेकर सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की जमकर तारीफ भी हो रही है।

पीएम मोदी ने कहा था कि सरकार ने प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र योजना के तहत महिलाओं को सशक्त बनाने और उनके स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए 1 रुपये में सैनिटरी नैपकिन देना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, ‘6,000 जन औषधि केंद्रों में, 5 करोड़ से अधिक सैनिटरी नैपकिन महिलाओं को दिए गए हैं।’ इसी के साथ शायद पीएम मोदी लाल किले की प्राचीर से अपने भाषण में मासिक धर्म के मुद्दे का जिक्र करने वाले पहले प्रधानमंत्री बन गए हैं। इसकी सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ भी हो रही है। पीएम ने कहा कि उनकी सरकार लगातार ‘गरीब बहनों और बेटियों’ के लिए बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने को लेकर चिंतित है।

शिवसेना नेता ने भी जताई खुशी
राज्यसभा सांसद और शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट कर लिखा, ‘खुशी है कि पीएम नरेंद्र मोदी जी ने मासिक धर्म स्वच्छता पर चर्चा को मुख्य धारा में शामिल किया। स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में इसका जिक्र करके लंबे समय से लंबे समय से चली आ रही वर्जनाओं को तोड़ दिया।
मुझे उम्मीद है कि स्टेट बीजेपी इससे सीख लेगी।’

अक्षय बोले- यह असली विकास
बॉलिवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने ट्वीट करक कहा, ‘हमारे प्रधानमंत्री के द्वारा स्वतंत्रता दिवस के भाषण में सैनिटरी पैड्स के बारे में बात करना सही प्रगति है। इससे ‘पीरियड्स’ एक मेनस्ट्रीम टॉपिक बन गया है। एक मुख्य विषय बना दिया है। सरकार को भी बहुत बधाई, जिसने अब तक 1 रुपये में करीब 5 करोड़ महिलाओं को सैनिटरी पैड वितरित किए।’

पीएम मोदी को कहा धन्यवाद
भेदभाव के खिलाफ प्रचार-प्रसार करने वाले ऑक्सफेम इंडिया के ऑफिशल ट्विटर हैंडल से लिखा गया, ‘अपने भाषण में सैनिटरी नैपकिन का जिक्र करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद। उम्मीद है कि इससे ‘पीरियड्स’ का टैबू टूटेगा और मासिक धर्म स्वच्छता को गंभीरता से लिया जाएगा।’

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *