राम मंदिर निर्माण के साथ ही एक नए भारत का संकल्प साकार होगा : विहिप


Edited By Anurag Kumar | आईएएनएस | Updated:

हाइलाइट्स

  • राम मंदिर के लिए भूमि पूजन को विहिप ने बताया गौरवशाली पल
  • विहिप ने कहा- राम मंदिर निर्माण से नए भारत का संकल्प होगा साकार
  • विहिप के महामंत्री सुरेंद्र जैन ने कहा कि राम मंदिर आंदोलन ने हिंदुओं में विभाजन को खत्म किया

नई दिल्ली

विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन ने कहा कि राम मंदिर का भूमि पूजन देश के लिए एक गौरवशाली क्षण है। इस राष्ट्रीय गौरव को कोई धूमिल नहीं कर सकता है। भगवान राम के मंदिर का शीर्ष कलश स्थापित होने तक सभी विभाजनकारी तत्व पूर्ण रूप से निरर्थक हो जाएंगे और आत्मविश्वास से युक्त एक नए भारत का संकल्प साकार होगा।

विहिप के शीर्ष नेता ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि 1984 से प्रारंभ हुए राम मंदिर आंदोलन में तीन लाख से अधिक गांवों की सहभागिता के साथ 16 करोड़ राम भक्तों ने भाग लिया। 9 नवंबर 2019 को सर्वोच्च न्यायालय के ऐतिहासिक निर्णय देने तक यह संघर्ष निरंतर चलता रहा। उन्होंने कहा कि इस अद्वितीय अभियान का ही परिणाम है कि राष्ट्रीय गौरव के प्रतीक भगवान श्री राम के भव्य मंदिर निर्माण का संकल्प एक-एक कदम आगे बढ़ते हुए साकार हो रहा है।

राम मंदिर के भूमिपूजन में शामिल होंगे पीएम मोदी

सुरेंद्र जैन ने कहा कि लगभग 1000 वर्षों तक विदेशी आक्रमणकारियों के विरुद्ध चले निरंतर संघर्ष के बाद हमने विजय प्राप्त की थी परंतु छद्म धर्म-निरपेक्षता की विभाजनकारी राजनीति ने देश के स्वाभिमान को कुंठित करने का प्रयास निरंतर किया। हिंदू समाज को न केवल काल्पनिक आधारों पर बांटा जा रहा था बल्कि हिंदुओं में एक हीन भावना का निर्माण भी किया जा रहा था।

उन्होंने कहा कि इस आंदोलन ने विभाजन की सभी रेखाओं को समाप्त कर दिया है। जाति, पंथ, भाषा, क्षेत्र आदि से ऊपर उठकर हिंदू संगठित हुआ है। संपूर्ण देश अब आत्मविश्वास से परिपूर्ण होकर हर क्षेत्र में कल्याणकारी परिवर्तन ला रहा है। साथ ही, भारत, वैश्विक मंच पर, एक महाशक्ति के रूप में पदार्पण कर रहा है। –



Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *