राम मंदिर के साथ अगले 5 साल में पर्यटन का प्रमुख केंद्र बनकर उभरेगी अयोध्या, ये है प्लान

[ad_1]

राम मंदिर के साथ अगले 5 साल में पर्यटन का प्रमुख केंद्र बनकर उभरेगी अयोध्या, ये है प्लान

अयोध्या के विकास के लिए सरकार ने बड़ा प्लान तैयार किया है.

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने ऐलान किया है कि अवधपुरी (Avadhpuri) को दुनिया की सबसे वैभवशाली नगरी के रूप में स्थापित करेंगे. माना जा रहा है कि सरकार की पर्यटन योजनाओं का 70 से 80 फीसदी बजट अगले पांच सालों के लिए अयोध्या को संवारने के लिए किया जा सकता है.

अयोध्या. राम मंदिर (Ram Mandir) भूमि पूजन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने ऐलान किया कि अवधपुरी (Avadhpuri) को दुनिया की सबसे वैभवशाली और समृद्धशाली नगरी के रूप में स्थापित करेंगे. वैसे प्रदेश सरकार के तमाम विभाग अयोध्या का कायाकल्प करने में जुट गए हैं. एक तरफ पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से अयोध्या को जोड़ा जा रहा है, वहीं वाराणसी से भी सीधे अयोध्या तक हाईवे बन रहा है. इसके अलावा अयोध्या तीर्थ विकास परिषद के गठन को भी बस कैबिनेट की मंजूरी का इंतजार है.

अयोध्या में भगवान राम की सबसे बड़ी मूर्ति, क्वीन हो मेमोरियल, डिजिटल म्यूजियम, इंटरप्रिटेशन सेंटर, रामलीला सेंटर, रामकथा गैलरी, ऑडिटोरियम समेत कई योजनाएं हैं, जिन्हें संस्कृति व पर्यटन विभाग चला रहा है. माना जा रहा है कि इस क्षेत्र में सरकार की पर्यटन योजनाओं का 70 से 80 फीसदी बजट अगले पांच सालों के लिए अयोध्या को संवारने के लिए किया जा सकता है.

बेहतर कनेक्टिविटी पर काम

विकास की चौतरफा योजनाओं की बात करें तो अयोध्या विकास प्राधिकरण की सीमाओं का विस्तार किया जा रहा है. सरकार की कोशिश है कि अयोध्या देश का एक प्रमुख धार्मिक पर्यटन का केंद्र बनकर उभरे. अयोध्या में एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है. यही नहीं लखनऊ और वाराणसी के अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से अयोध्या की सीधे कनेक्टिविटी के लिए पूर्वांचल एक्सप्रेस का निर्माण भी हो रहा है. वाराणसी से अयोध्या तक 192 किलोमीटर लंबे काशी-अयोध्या राजमार्ग भी दो साल के अंदर पूरा हो जाने की उम्मीद जताई जा रही है. पर्यटन सुविधाओं को ंसंवारा जाएगा

वहीं अयोध्या तीर्थ विकास परिषद यहां घाटों, मंदिरों और अन्य आधारभूत सुविधाओं को विकसित करने की तैयारी में है. प्लान ये है कि अयोध्या में हर गली, हर घर में मंदिरों को संवारा जाएगा. वहीं अयोध्या व आसपास के इलाके को प्राधिकरण अपनी सीमा में लेकर विकसित करेगा. फाइव स्टार होटलों से लेकर पर्यटकों की सुविधाओं को ध्यान में रखकर इसे डेवलप किया जाएगा.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *