राम मंदिर के नींव पूजन की तारीख तय होते ही कुम्हारों के चेहरे खिले, मिलने लगे दीयों के ऑर्डर


राम मंदिर के नींव पूजन की तारीख तय होते ही कुम्हारों को मिलने लगे दीयों के ऑर्डर.

न्यूज़ 18 की टीम ने मेरठ के एक कुम्हार के घर का जायजा लिया तो यहां हमें दीयों का पहाड़ नजर आया. कुम्हारों का कहना है कि उनके लिए प्रभु श्रीराम ने दीपावली से पहले ही दीपावली ला दी है.

मेरठ. ‘मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है, करते हैं सब प्रभु मेरा नाम हो रहा है’ आजकल इस गीत की लाइनें कुम्हार भी गुनगुनाते हुए नजर आ रहे हैं. जी हां, आजकल कुम्हारों (potters) के मुरझाए चेहरे खिल उठे हैं. कोरोनाकाल (Corona) में कुम्हारों के चाक की तरह उनकी जिंदगी का पहिया भी थम गया था, लेकिन प्रभु श्रीराम की लीला ने एकाएक सब कुछ बदल दिया है. 5 अगस्त को राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण की शुरुआत होने जा रही है. मंदिर निर्माण की तारीख आने की वजह से आजकल कुम्हारों के पास दीयों के खूब ऑर्डर आ रहे हैं. न्यूज़ 18 की टीम ने मेरठ के एक कुम्हार के घर का जायजा लिया तो यहां हमें दीयों का पहाड़ नजर आया. कुम्हारों का कहना है कि उनके लिए प्रभु श्रीराम ने दीपावली से पहले ही दीपावली ला दी है.

कुम्हार के घर का कोना-कोना सिर्फ दीयों से भरा नजर आ रहा है. दीयों को रखने की जगह जब कम पड़ गई तो उन्हें चारपाई के नीचे भी रखा जा रहा है. कुम्हारों को लाखों दीयों का ऑर्डर मिलने से उनके चेहरे पर छाई रहने वाली चिंता की लकीरें कम हो गई हैं. कुम्हारों के चाक का पहिया घूम गया है और साथ ही चल पड़ी है इन गरीबों की जिंदगी. इनका कहना है कि प्रभु श्रीराम ने सिर्फ उनका थमा चक्का नहीं चलाया है, बल्कि उनकी जिंदगी की गाड़ी भी दौड़ा दी है.
गौरतलब है कि 5 अगस्त को अयोध्या नगरी के साथ समूचा देश दीपावली से पहले दीपावली मनाएगा. मेरठ में भी जगह जगह भगवा ध्वज पताकाएं लहराएंगी. सैकड़ों स्थानों पर हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ किया जाएगा. घर-घर लाखों की संख्या में दीपक जलाए जाएंगे और बड़े प्रोजेक्टर पर राम मंदिर आंदोलन के दृश्य व फिल्म चलाई जाएंगी. सभी का एक सुर में बस यही कहना है कि जय श्रीराम.





Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *