मेरठ में NCERT की नकली किताबों का मामला, सपा कार्यकर्ताओं की पुलिस से हुई झड़प

[ad_1]

मेरठ में NCERT की नकली किताबों का मामला, सपा कार्यकर्ताओं की पुलिस से हुई झड़प

सपा कार्यकर्ताओं की पुलिस से हुई झड़प

बता दें कि मेरठ पुलिस (Meerut Police) और एसटीएफ (STF) के ज्वाइंट ऑपरेशन में करीब 35 करोड़ की नकली किताबें और मशीनरी बरामद हुई थी.

मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) में एनसीईआरटी (NCERT) की नकली किताब छापने का मामला तुल पकड़ने लगा है. इसी कड़ी में सोमवार को मेरठ में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के कार्यकर्ताओं ने अपने कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया. वहीं सपा कार्यकर्ता आरोपियों के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई की मांग को लेकर ज्ञापन देने कलेक्ट्रेट की तरफ जाना चाहते थे. लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे जाने से रोक दिया. हालांकि इस दौरान धारा 144 और सोशल डिस्टेंसिंग की भी जमकर धज्जियां उडीं. सपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ भी धक्का मुक्की की.

बता दें कि मेरठ पुलिस और एसटीएफ के ज्वाइंट ऑपरेशन में करीब 35 करोड़ की नकली किताबें और मशीनरी बरामद हुई थी. पुलिस ने फैक्ट्री और गोदाम समेत 3 जगहों को सील कर दिया है साथ ही एक दर्जन से ज्यादा लोग हिरासत में ले लिए गए हैं. छापेमारी के दौरान गैंग के सरगना का पॉलिटिकल कनेक्शन के सामने आया है. कई दस्तावेज जलाए गए हैं, जिनकी जांच में फॉरेंसिक, पुलिस, एसटीएफ, जीएसटी और एनसीईआरटी समेत कई एजेंसियां इस मामले की जांच में जुट गए हैं.

ये भी पढे़ं- NEWS18 EXCLUSIVE: समाजवादी पार्टी में जाना चाहती हैं साक्षी मिश्रा, अखिलेश यादव से मांगा वक्त

उधर, नकली किताबें छापने के मामले ने तूल पकड़ा तो मुख्य आरोपी सचिन गुप्ता के चाचा संजीव गुप्ता को बीजेपी से निलंबित कर दिया गया. संजीव गुप्ता बीजेपी के महानगर उपाध्यक्ष थे. फर्जी किताब छापने के इस मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए महानगर बीजेपी अध्यक्ष मुकेश सिंघल ने निलंबन पत्र जारी किया. वहीं, इस मामले में 8 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है जिसमें से 4 लोग गिरफ्तार हैं और मुख्य आरोपी सचिन गुप्ता, संजीव गुप्ता सहित 4 लोग अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *