मजदूरों को एनकाउंटर में मारकर दफना दिया? परिवार की शिकायत के बाद आर्मी करेगी जांच

[ad_1]

Edited By Nilesh Mishra | एजेंसियां | Updated:

सांकेतिक तस्वीरसांकेतिक तस्वीर
हाइलाइट्स

  • जुलाई में शोपियां में हुए एनकाउंटर केस की फिर से जांच करेगी इंडियन आर्मी
  • राजौरी के तीन लोगों के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद आर्मी ने दिया बयान
  • जिस दिन से ये तीनों लापता हुए उसी दिन हुआ था एनकाउंटर, शवों की पहचान भी नहीं हुई

जम्मू

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में जुलाई महीने में एक एनकाउंटर हुआ था। इस एनकाउंटर में तीन आतंकियों को मार गिराया गया था। अब एक परिवार ने कहा है कि जिस इलाके में यह एनकाउंटर हुआ, उसी इलाके में परिवार के तीन लोग लापता हो गए थे। परिवार के इस दावे के बाद आर्मी ने फैसला किया है कि इस केस में जांच कराई जाएगी।

अधिकारियों ने बताया कि 18 जुलाई 2020 को एनकाउंटर के बाद सोशल मीडिया पर ऑपरेशन से जुड़े जो भी इनपुट्स थे, उन्हें नोट किया गया है और उनपर ध्यान दिया जाएगा। बताया गया है कि एनकाउंटर में जिन तीन आतंकियों को मारा गया था, उनकी पहचान नहीं हुई थी और तय प्रोटोकॉल के मुताबिक, उन्हें दफना दिया गया था।

राजौरी जिले के तीन मजदूरों के परिवार ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई थी कि 18, 21 और 26 साल के तीन युवक लापता हैं। 17 जुलाई को इन तीनों ने बताया था कि वे शोपियां पहुंच गए हैं और रहने के लिए किराए पर कमरा ले लिया है। परिवार को आशंका है कि एनकाउंटर और इन तीनों के लापता होने में कोई संबंध हो सकता है।

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *