बॉयफ्रेंड के साथ भागना था, बेटे का ही करवा दिया किडनैप और पति से मांगे 30 लाख

[ad_1]

बॉयफ्रेंड के साथ भागना था, बेटे का ही करवा दिया किडनैप और पति से मांगे 30 लाख

पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है.

अपने प्रेमी (Lover) के साथ शादी कर घर बसाने के लिए मां ने अपने ही पांच साल के बच्चे का अपहरण (Kidnap) करवाया. किडनैपिंग में बॉयफ्रेंड ने मदद की. 

फ़रीद शम्सी

मुरादाबाद. मझौला क्षेत्र में 7 अगस्त को 30 लाख की फ़िरौती (Ransom) की वसूली के लिए हुए 5 साल के बच्चे के अपहरण (Kidnap) मामले का पूरा खुलासा पुलिस कर दिया है. इस पूरी कहना की मास्टमाइंड कोई और नहीं बल्कि बच्चे की मां ही निकली. पुलिस के मुताबिक, मां ने ख़ुद ही प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही 5 साल के बेटे ध्रुव का पहले अपहरण करवाया. फिर पति से 30 लाख की फिरौती मांग डाली. एसएसपी मुरादाबाद प्रभाकर चौधरी ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर आरोपी मां को उसके प्रेमी के साथ मीडिया के सामने लाकर ध्रुव अपहरण कांड का ख़ुलासा किया है.

पुलिस की गिरफ्त में आई आरोपी महिला ने बेटे के अपहरण के बाद पूरा ड्रामा करते हुए बयान दिया था. पूरे मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि 7 अगस्त को मुरादाबाद के मझौला थाना क्षेत्र में रहने वाले एक परिवार ने ये सूचना दी कि उनके 5 साल के बेटे ध्रुव का अपहरण हो गया है. अपहरण करने वाले ने इंटरनेट कॉल कर उनसे 30 लाख की फिरौती भी मांगी है. ध्रुव की मां ने बच्चे की जान की दुहाई देते हुए मामले को उजागर न करने की मांग भी मीडिया से की थी, लेकिन अगले ही दिन 8 अगस्त को अपहरण किया गया बच्चा ध्रुव गाजियाबाद के कौशाम्बी बस अड्डे पर बरामद हो गया था.

इस वजह से मां ने बनाई थी अपहरण की पूरी प्लानिंगमुरादाबाद में मंगलवार को एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने मीडिया के सामने बच्चे की मां और उसके प्रेमी अशफाक को पेश करते हुए पूरे मामले का खुलासा किया. मां ने खुद कबूल किया कि अशफाक से उसकी जान पहचान सोशल मीडिया एकाउंट फेसबुक पर हुई थी. अशफ़ाक तेलंगाना के रहने वाला है. दो साल से दोनो के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था. मां ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने बेटे के अपहरण के बदले मिलने वाले फ़िरौती के तीस लाख रुपए से तेलंगाना जाकर एक जिम खोलने और शादी करके वहीं बस जाने की प्लानिंग की थी.

ये भी पढ़ें: तय शेड्यूल के मुताबिक ही होंगे HPU में UG के फाइनल सेमेस्टर एग्जाम, हाईकोर्ट से मिली इजाजत

एसएसपी प्रभाकर चौधरी के मुताबिक, आरोपी अशफाक मूल रूप से तेलंगाना का ही रहने वाला है. वह लगातार इस महिला के सम्पर्क में था. वो ही 07 अगस्त को गाड़ी लेकर मुरादाबाद आया था. अपहरण के बाद अशफ़ाक़ ध्रुव को लेकर गाजियाबाद गया था. पुलिस ने वीडियो फुटेज के आधार पर मामले का खुलासा किया है. अशफाक जब मुरादाबाद आता मां अपने बेटे का साथ उससे मिलने जाती थी ताकि अपहरण के वक्त बच्चा शोर न मचाए. परिचित होने की वजह से बच्चा आसानी से अशफाक के साथ चला गया.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *