बिहार: कांट्रैक्ट शिक्षकों को नीतीश सरकार का बड़ा तोहफा, 22% बढ़ाई सैलरी

[ad_1]

पटना
बिहार की राजधानी पटना में मंगलवार को नीतीश सरकार की कैबिनेट बैठक हुई। इस बैठक में कुल 28 एजेंडों पर मुहर लगी। लेकिन इस कैबिनेट मीटिंग में नीतीश सरकार ने बिहार विधानसभा चुनाव से पहले नियोजित शिक्षकों (Contract Teachers) की मांगों को मानकर शिक्षकों एक बड़ा तोहफा दिया है। बता दें कि बिहार में नियोजित शिक्षक इसकी लंबे समय से कुछ मांग कर रहे थे और इसको लेकर लंबे समय उन्होंने प्रदर्शन किया था। अब सरकार के फैसले के बाद, नियोजित शिक्षकों को बड़ी राहत मिली है।

सरकार ने ये मांगे की पूरी
बिहार कैबिनेट (Bihar cabinet) ने बड़ा निर्णय लेते हुए प्रदेश के नियोजित शिक्षकों (Contract teachers) की सेवा शर्त नियमावली को मंजूरी दे दी है।इसके साथ ही लंबे अरसे से लंबित पड़े शिक्षकों की अधिकतर मांगों को मान लिया गया है। सरकार के इस फैसले से करीब पौने चार लाख शिक्षकों को सीधा फायदा मिलने वाला है। नीतीश के कैबिनेट के इस फैसले के साथ ही शिक्षकों को प्रोन्नति, स्वैच्छिक स्थानंतरण समेत कई सुविधाओं का अब लाभ मिल सकेगा। इसके साथ ही सरकार ने वेतन में भी 22 फीसदी तक का इजाफा कर दिया है, जिसका लाभ एक अप्रैल 2021 से मिलेगा। कैबिनेट के इस फैसले से सरकार के खजाने पर 2765 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा।

प्रदेश के किसी भी कोने में मिल पाएगा ट्रांसफर

जानकारी के अनुसार, वेतन वृद्धि 15 से 22 प्रतिशत तक की गई है जिसमें वरिष्ठता के आधार पर निर्णय किया जाएगा। शिक्षकों को मिलने वाले लाभ में ईपीएफ के तौर पर 12-12 फीसदी का अंश 12 फीसदी सरकार अपने हिस्से से देगी। स्थानान्तरण, प्रोमोशन समेत अन्य तरह की सुविधा का तोहफा मिलने वाला है। अब बिहार के नियोजित शिक्षक किसी कोने में ट्रांसफर ले सकेंगे। इसके साथ ही संयुक्त सीमित परीक्षा के माध्यम से प्रोमोशन का भी लाभ मिलेगा। वहीं, शिक्षक की मौत के बाद परिजनों को मिलेगा अनुकंपा पर नौकरी भी मिल सकेगी।

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *