फिल्म, वेब सीरीज में आर्म्ड फोर्सेज को गलत तरीके से दिखाने की शिकायतों पर रक्षा मंत्रालय ने सेंसर बोर्ड, सूचना प्रसारण मंत्रालय को लिखा



नई दिल्ली
फिल्मों और वेब सीरीज में भारतीय सेना के अधिकारियों को गलत तरीके से दिखाए जाने की शिकायतों को ने गंभीरता से लिया है। अब मंत्रालय ने सेंसर बोर्ड यानी सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन () और सूचना प्रसारण मंत्रालय को लिखा है कि फिल्म, डॉक्यूमेंट्री या वेब सीरीज में अगर आर्म्ड फोर्सेज को किसी भी तरह से दिखाया जाना है तो पहले रक्षा मंत्रालय से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (NOC) लें।

आर्म्ड फोर्सेज को गलत तरह से दिखाए जाने की कई शिकायतें
हाल के दिनों में फिल्म और वेब सीरीज में भारतीय सेना के अधिकारियों और जवानों का गलत तरीके से चित्रण करने की कई शिकायतें सामने आई हैं। सूत्रों के मुताबिक रक्षा मंत्रालय को कई शिकायत मिली जिसमें कहा गया कि कई वेब सीरीज में इंडियन आर्मी के लोगों का गलत तरीके से चित्रण किया गया है और साथ ही मिलिट्री यूनिफॉर्म की बेइज्जती की गई है।

कुछ मामलों में पूर्व सैनिकों ने FIR भी दर्ज कराई है
रक्षा मंत्रालय के पास जो शिकायतें आई हैं उनमें वेब सीरीज कोड-एम, एक्स एक्स एक्स अनसेंसर्ड (सीजन-2) भी शामिल हैं। शिकायतों में कहा गया है कि इनमें जिस तरह आर्मी के बारे में जिक्र किया गया है और चित्रण किया गया है वह असलियत से कोसों दूर है और आर्म्ड फोर्सेस की छवि खराब करने वाला है। कुछ पूर्व सैनिकों ने तो इसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई है और ओटीटी प्लेटफॉर्म और प्रोड्यूसर पर लीलग ऐक्शन लेने की मांग की है।

…तो रक्षा मंत्रालय से लेनी होगी NOC
अब रक्षा मंत्रालय ने भी औपचारिक तौर पर सूचना और प्रसारण मंत्रालय और सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन को लिखा है कि वह प्रोडक्शन हाउस से कहें कि इंडियन आर्मी थीम से जुड़ी किसी भी फिल्म, डॉक्यूमेंट्री या वेब सीरीज दिखाने से पहले रक्षा मंत्रालय ने नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (एनओसी) लें। साथ ही प्रॉडक्शन हाउस को सलाह देने को कहा गया कि किसी भी ऐसे चित्रण से बचें जिससे डिफेंस फोर्स की गलत छवि प्रस्तुत होती है और सैनिकों की भावनाएं आहत होती हैं।

(देश-दुनिया और महाराष्ट्र की हर खबर अब Telegram पर भी। हमसे जुड़ने के लिए और पाते रहें हर जरूरी अपडेट)



Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *