पश्चिम बंगालः नहीं मिली ऐंबुलेंस, PPE पहन मरीज को बाइक से अस्पताल ले गए TMC नेता

[ad_1]

Edited By Shashi Mishra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

मरीज को अस्पताल ले जाते टीएमसी नेतामरीज को अस्पताल ले जाते टीएमसी नेता
हाइलाइट्स

  • बीते दिनों गांव में लौटा था प्रवासी मजदूर, आ रहा था बुखार
  • ऐंबुलेंस मंगाने के बाद भी नहीं आई, कोरोना के डर से कोई मदद को नहीं आया आगे
  • टीएमसी नेता सत्यकाम पटनायक ने पीपीई किट मंगवाकर पहनी और बाइक से मरीज को लेकर पहुंचे अस्पताल
  • अस्पताल से मरीज को दवाएं देकर घर में किया गया आइसोलेट

झारग्राम

पश्चिम बंगाल के झारग्राम इलाके में एक तृणमूल के नेता की जमकर तारीफ हो रही है। यहां रहने वाले एक शख्स को कोरोना वायरस के लक्षण थे। काफी प्रयास के बाद भी उसे अस्पताल ले जाने के लिए ऐंबुलेंस नहीं मिली तो टीएमसी ने अपनी बाइक से मरीज को लेकर अस्पताल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अपनी सुरक्षा का भा ख्याल रखा और पीपीई किट पहनकर मरीज के संपर्क में आए।

मामला गोपीबल्लपुर का है। सत्यकाम पटनायक टीएमसी युवा मोर्चा के अध्यक्ष हैं। उन्हें अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से पता चला है कि कुछ दिनों पहले गांव लौटे एक प्रवासी श्रमिक को बुखार आ रहा है। उसे 4-5 दिनों से कोरोना के लक्षण थे।

काफी कोशिशों के बाद भी नहीं मिली ऐंबुलेंस

परिवार ने बताया कि काफी प्रयास के बाद भी उन्हें ऐंबुलेंस नहीं मिली। कोरोना के डर से कोई उनकी मदद भी नहीं करने को तैयार था। इसलिए उन्होंने खुद पीड़ित परिवार की मदद करने की ठानी।

पश्चिम बंगाल में 15 दिनों के अंदर 4 बार लॉकडाउन की तारीख में बदलाव, ममता पर बरसा विपक्ष

तीन किलोमीटर तक चलाई बाइक

सत्यकाम ने अपने पास से रुपये खर्च करके पीपीई किट खरीदी और मरीज के घर पहुंचे। यहां उसे अपनी बाइक पर बैठाया और उसे गांव से लगभग तीन किलोमीटर दूर बने कोविड केयर सेंटर ले गए।

डॉक्टरों ने मरीज को देखा और दवा देकर घर भेज दिया। डॉक्टरों ने उसे घर पर आइसोलेशन में रहे को कहा है। आपको बता दें कि राज्य में बुधवार को कोरोना वायरस से 54 और मरीजों ने दम तोड़ दिया। राज्य में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 2,936 हो गई है।

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *