पंजाब: जहरीली शराब पर अपनी सरकार की आलोचना, अब मंत्रियों की मांग सांसदों को बाहर करे कांग्रेस

[ad_1]

राज्‍यपाल से मिले थे दोनों सांसदराज्‍यपाल से मिले थे दोनों सांसद

चंडीगढ़

पंजाब के कैबिनेट मंत्रियों ने हालिया जहरीली शराब मामले में राज्य सरकार की आलोचना को लेकर राज्यसभा सदस्यों प्रताप सिंह बाजवा और शमशेर सिंह दुलो को कांग्रेस से फौरन निकालने की मांग की है। गुरुवार को मंत्रियों ने एक बयान में सांसदों के आचरण को घोर अनुशासनहीनता बताया और कहा कि उनके लिए पार्टी का कोई ‘महत्व’ नहीं बचा है।

मंत्रियों ने कहा कि उन्हें जल्‍द से जल्‍द बाहर निकालने की जरूरत है। पंजाब कांग्रेस के प्रमुख सुनील जाखड़ ने दो दिन पहले कहा था कि वह पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखेंगे कि उनके खिलाफ ‘अनुशासनहीनता’ को लेकर सख्त कार्रवाई की जाए। राज्यसभा के दोनों सदस्यों ने हालिया जहरीली शराब मामले को लेकर अपनी ही पार्टी की सरकरार की आलोचना की थी। उस हादसे में 113 लोगों की मौत हो गयी थी।

मंत्रियों ने कहा कि अनुशासनहीनता किसी भी समय बर्दाश्त नहीं की जा सकती है। राज्य में विधानसभा चुनाव में दो साल से भी कम समय रह गया है। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है कि सांसद के रूप में अपना काम करने के बजाय उनका इरादा अपनी सरकार को ही ‘अस्थिर’ करना है। मंत्रियों ने कहा कि पार्टी और सरकारी मंचों को दरकिनार कर तथा राज्यपाल से संपर्क कर दोनों सांसदों ने न केवल लोकतांत्रिक शासन के मूल तत्व पर हमला बोला है, बल्कि पंजाब पुलिस को भी कमतर करने की कोशिश की है। मंत्रियों ने कहा कि दोनों सांसदों ने राज्यसभा में राज्य के हित के किसी भी मुद्दे को उठाने की ‘जहमत’ नहीं उठायी। उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं ने अकाली शासन के दौरान मादक पदार्थों के मुद्दे की ईडी जांच पूरी करने के लिए क्यों नहीं दबाव डाला?

[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *