तेजस्वी सूर्या का ओवैसी पर पलटवार, ‘जब राष्ट्रपति भवन में होती थी इफ्तार पार्टी, तब कहां थी आपकी धर्मनिरपेक्षता’



बेंगलुरु
राम मंदिर के भूमि पूजन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शामिल होने को लेकर छिड़ी बहस के बीच बीजेपी सांसद ने पर पलटवार किया।तेजस्वी ने पूर्व में राष्ट्रपति भवन में आयोजित इफ्तार पार्टी पर सवाल किए। ट्वीट करते हुए तेजस्वी ने ओवैसी से पूछा कि उनकी धर्मनिरपेक्षता तब कहां थी जब देश के राष्ट्रपति और राज्यों के मुख्यमंत्री अपने आवास पर इफ्तार पार्टी रखते थे।

ने ओवैसी के ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए लिखा, ‘जब देश के राष्ट्रपति और राज्यों के सीएम अपने आधिकारिक आवास पर इफ्तार पार्टी आयोजित कराते थे तब आपकी धर्मनिरपेक्षता कहां थी?’ उन्होंने आगे आरोप लगाया, मंदिर को गिराकर मस्जिद बनाई गई थी। उस गलती को अब सुधार दिया गया है। उन्होंने आगे कहा, हमें रजाकारों से संविधानवाद का पाठ सीखने की जरूरत नहीं।’

भूमि पूजन में पीएम मोदी के शामिल होने पर सवाल
बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंदिर निर्माण के भूमि पूजन समारोह में शामिल होने पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) नेता असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा कि अयोध्या में भूमि पूजन का हिस्सा बनना प्रधानमंत्री पद की संवैधानिक शपथ का उल्लंघन होगा। उन्होंने ट्वीट किया था, ‘आधिकारिक तौर पर भूमि पूजन में शामिल होना प्रधानमंत्री के संवैधानिक शपथ का उल्लंघन है। धर्मनिरपेक्षता संविधान के मूल ढांचे का हिस्सा है।’

‘भूल नहीं सकते 400 साल तक वहां मस्जिद थी’
ओवैसी ने आगे लिखा था, ‘हम नहीं भूल सकते कि 400 से ज्यादा वर्षों से अयोध्या में थी और 1992 में अपराधियों के भीड़ ने इसे ध्वस्त किया था।’ उनके इस बयान पर काफी विवाद हुआ था। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक टीवी न्यूज चैनल की डिबेट में उन्हें ‘दाढ़ी वाले जिन्नाह’ तक बता दिया था।

राजनीति की हर खबर अब Telegram पर भी। हमसे जुड़ने के लिए और पाते रहें हर जरूरी अपडेट।



Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *