झांसी: ‘3 idiots’ फिल्म की तर्ज पर महिला दरोगा ने ट्रेन में करवाई महिला की डिलीवरी, खुद ही काटी बच्चे की नाल

[ad_1]

झांसी: '3 idiots' फिल्म की तर्ज पर महिला दरोगा ने ट्रेन में करवाई महिला की डिलीवरी, खुद ही काटी बच्चे की नाल

झांसी रेलवे स्टेशन पर गोआ एक्सप्रेस में एक महिला दरोगा ने महिला की सकुशल डिलीवरी कराई.

झांसी (Jhansi) में महिला दरोगा राजकुमारी गुर्जर ने बताया कि प्रसव से कराह रही महिला के पास ज्यादा समय नहीं था, इसीलिए उन्होंने खुद अपनी एक डॉक्टर मित्र को फोन कर स्टेशन पर ही ये डिलीवरी कराई. उन्हें खुशी हे कि बच्चा और उसकी मां दोनों सकुशल हैं.

झांसी. उत्तर प्रदेश के झांसी (Jhansi) में गोआ एक्सप्रेस ट्रेन (Goa Express Train) में आधी रात को 3 थ्री इडियट्स मूवी (3 Idiots Movie) की तर्ज पर आरपीएफ (RPF) की महिला दरोगा (Sub Inspector) ने प्रसव पीड़ा से जूझ रही महिला की सकुशल डिलीवरी करवा दी. खास बात ये रही कि डिलीवरी के दौरान महिला दरोगा को फोन पर एक महिला डॉक्टर निर्देश देती रही. आरपीएफ की महिला उपनिरीक्षक राजकुमारी गुर्जर ने डॉक्टर का किरदार अदा किया. जच्चा और बच्चा दोनों सकुशल हैं और उन्हें रेलवे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

ट्रेन में आधी रात को हुई प्रसव पीड़ा

गोआ एक्सप्रेस में सवार एक महिला को आधी रात में प्रसव पीड़ा हुई. ट्रेन झांसी पहुंची तो सूचना आरपीएफ को हुई. इस दौरान मौके पर पहुंची आरपीएफ की महिला सब इंस्पेक्टर राजकुमारी गुर्जर ने मौके से अपनी एक दोस्त महिला डॉक्टर से संपर्क किया और उनसे स्थिति पर विमर्श किया. इसके बाद महिला डॉक्टर उन्हें फोन पर निर्देश देती रही और महिला दरोगा ने सकुशल डिलीवरी करवा दी. यही नहीं उन्होंने बच्चे की नाल भी खुद काटी. इसके बाद दोनों को फौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया.

jhansi rpf si

झांसी में सकुशल डिलीवरी कराने वाली आरपीएफ सब इंस्पेक्टर राजकुमारी गुर्जर

खुद ब्लेड से काटी नाल

दरोगा राजकुमारी गुर्जर ने बताया कि 18 अगस्त की देर रात आरक्षी सुनील कुमार ने गोआ एक्सप्रेस में एक महिला को प्रसव पीड़ा हो रही है. इस सूचना पर मैं और एसआई रविंद्र सिंह राजावत, एसआई प्राची मिश्रा और एसआई मधुबाला वहां पहुंचे. वहां हम सभी ने महिला की लोकलज्जा का ध्यान रखते हुए अपनी महिला मित्र एक डॉक्टर से संपर्क किया गया और महिला की डिलीवरी करवाई. इस दौरान नई ब्लेड से नाल काटकर बच्ची और मां को अलग किया गया. इसके बाद दोनों को रेलवे अस्पताल पहुंचाया गया. दोनों मां-बेटी अब स्वस्थ हैं.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *