कोझिकोड प्लेन क्रैश: को पायलट अखिलेश का पार्थिक शरीर पहुंचा मथुरा, मां-पत्नी हुईं बेहोश

[ad_1]

कोझिकोड प्लेन क्रैश: को पायलट अखिलेश का पार्थिक शरीर पहुंचा मथुरा, मां-पत्नी हुईं बेहोश

को पायलट अखिलेश शर्मा का पार्थिव शरीर पहुंचा मथुरा

शव घर पहुंचते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गाया. गर्भवती पत्नी और मां रोते-रोते बेहोश गईं. डॉक्टर भूदेव की मौजूदगी में स्वास्थ्य टीम गर्भवती पत्नी के स्वास्थ्य पर नजर बनाये हुए है. उधर परिजनों की मांग है कि अखिलेश को शहीद का दर्जा दिया जाए.

मथुरा. केरल (Kerla) के कोझिकोड (Khozikod) में शुक्रवार को हुए विमान हादसे (Air India Plane Crash) में मारे गए को पायलट अखिलेश शर्मा (Co-Pilot Akhilesh Sharma) का पार्थिव शरीर रविवार सुबह मथुरा पहुंचा. शव घर पहुंचते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गाया. गर्भवती पत्नी और मां रोते-रोते बेहोश गईं. डॉक्टर भूदेव की मौजूदगी में स्वास्थ्य टीम गर्भवती पत्नी के स्वास्थ्य पर नजर बनाये हुए है. उधर परिजनों की मांग है कि अखिलेश को शहीद का दर्जा दिया जाए.

पायलट अखिलेश शर्मा की मौत की जानकारी लगते ही मथुरा के थाना गोविंद नगर इलाके के जन्मभूमि के पास स्थित उनके घर परिवार में मातम छा गया है. जिसके बाद जहां परिवार में कोहराम मचा हुआ है. थाना गोविंद नगर क्षेत्र के पोतरा कुंड निवासी 32 वर्षीय अखिलेश शर्मा पुत्र तुलसीराम शर्मा एयर इंडिया में को-पायलट थे. शुक्रवार को केरल के कोझिकोड स्थित करीपुर एयरपोर्ट पर हुए एयर इंडिया विमान हादसे में उनकी मौत हो गई. मौत की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया.

अखिलेश की पत्नी मेघा गर्भवती हैं. 10 दिन बाद उनकी डिलीवरी होनी है. परिवार में खुशियां मनाने की तैयारी चल रही थी, लेकिन उससे पहले अखिलेश की मौत की खबर आ गई. इससे परिवार में मातम पसर गया. परिजन यकीन नहीं कर पा रहे कि अखिलेश अब इस दुनिया में नहीं हैं. अखिलेश शर्मा की शादी अभी दो वर्ष पूर्व 10 दिसंबर को हुई थी. जिनकी पत्नी अभी गर्भवती है. परिजनों का कहना है कि वह लॉकडाउन से पहले घर आया था. इनके परिवार में 2 भाई एव एक बहन और पत्नी मेघा सहित माता पिता है.

अब तक 19 की मौतउड़ान संख्या आईएक्स 1344 कोझिकोड में शुक्रवार शाम सात बजकर 41 मिनट पर हवाईपट्टी से फिसल गई थी. विमान में 10 बच्चों समेत 184 यात्री, दो पायलट और चालक दल के चार सदस्य सवार थे. इस हादसे में कम से कम 19 लोगों की मौत हो गई. कोझिकोड एयरपोर्ट के एक अधिकारी के मुताबिक वहां कई घंटों से ज़ोरदार बारिश हो रही थी. ऐसे में विमान के पायलट कैप्टन वसंत साठे एयरपोर्ट के दो चक्कर काटने के बाद रनवे पर उतरने की कोशिश की.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *