कानपुर पुलिस लाइन में बड़ा हादसा, बैरक की छत अचानक भड़भड़ाकर गिरी, एक सिपाही की मौत और 2 घायल

[ad_1]

कानपुर पुलिस लाइन में बड़ा हादसा, बैरक की छत अचानक भड़भड़ाकर गिरी, एक सिपाही की मौत और 2 घायल

बैरक नंबर एक की छत अचानक गिर गई. मौके पर मलबे को हटाते पुलिसकर्मी.

एसएसपी कानपुर प्रीतिंदर सिंह (SSP Kanpur Preetinder Singh) ने कहा कि इस हादसे में 3 लोग घायल हो गए, जिनमें से एक ने दम तोड़ दिया.

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां पुलिस लाइन (police Line) में बैरक नंबर एक (Barrack Number One) की छत अचानक भड़भड़ाकर गिर गई. इस हादसे में एक सिपाही की मौत हो गई है. वहीं, 2 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. घायल दोनों पुलिसकर्मियों को रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. कहा जा रहा है कि दोनों की हालत गंभीर बनी हुई है. घटना की सूचना मिलते ही आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं. साथ ही मामले की जांच शुरू कर दी गई है.

वहीं, एसएसपी कानपुर प्रीतिंदर सिंह (SSP Kanpur Preetinder Singh) ने कहा कि इस हादसे में 3 पुलिसकर्मी घायल हो गए, जिनमें से एक ने दम तोड़ दिया. हम उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं. उन्होंने कहा कि मृतक के परिवार को  मुआवजा दिया जाएगा. साथ ही उनका अंतिम संस्कार पूरे सम्मान के साथ किया जाएगा. प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि बचाव अभियान लगभग पूरा हो गया है.

वर्ष 1948 में चार बैरकों का निर्माण कराया गया था
जानकारी के मुताबिक, हादसे की सूचना पर एडीजी जय नरायन सिंह, आइजी मोहित अग्रवाल और एसएसपी डॉ. प्रीतिंदर सिंह मौके पर पहुंच गए. अधिकारियों ने मलबे में किसी भी सिपाही के फंसे होने की संभावनाओं से इनकार किया है. बताते चलें कि पुलिस लाइन में वर्ष 1948 में चार बैरकों का निर्माण कराया गया था. दो मंजिला यह चारों बैरक पुलिस लाइन की सबसे पुराने इमारतों में हैं. इनमें से बैरक नंबर एक बेहद जर्जर हालत में थी. बैरक के हाल के अलावा सिपाही यहां के बरामदों के नीचे भी अपनी चारपाई डाले हुए हैं. कहा जा रहा है कि इस बरसात में कमरे व बरामदे की छत से पानी चूने की शिकायतें सिपाहियों ने की थी, लेकिन पर उस पर कोई ध्यान नहीं दिया. यही वजह है कि जर्जर छत अचानक ठह गई.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *