आजादी के दिन मऊ के 68 गांवों को मिला ‘तोहफा’, SP ने किया रामपुर थाने का उद्घाटन

[ad_1]

आजादी के दिन मऊ के 68 गांवों को मिला 'तोहफा', SP ने किया रामपुर थाने का उद्घाटन

मऊ जिले में अब थानों की संख्‍या बढ़कर 12 हो गयी है.

मऊ (Mau) के पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य (Anurag Arya) ने रामपुर थाने का उद्घाटन किया है. इस थाने पर 68 गांवों की सुरक्षा की जिम्‍मेदारी होगी. जबकि जिले में थानों की संख्‍या अब 12 हो गयी है.

मऊ. उत्‍तर प्रदेश के मऊ में शासन के मंशा के अनुसार स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य (Superintendent of Police Anurag Arya) ने रामपुर पुलिस थाने का उद्घाटन किया. इसके साथ ही 68 गांव की सुरक्षा व्यवस्था की बागडोर अब रामपुर थाने (Rampur Police Station) के हवाले सौंप दी है. वहीं, थाने को संचालित करने के लिए जरूरी सभी काम पूरे किये जा रहे हैं. जबकि 22 अगस्त से थाना पूरी तरह जनता की सुविधाओं और परेशानियों पर खरा उतरने का काम करेगा.

पुलिस अधीक्षक ने कही ये बात
इस दौरान पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि शासन के द्वारा रामपुर पुलिस चौकी को थाना बनाने का आदेश स्वीकृत है. उसी रामपुर पुलिस चौकी के प्रांगण में थाने की व्यवस्था कर उद्घाटन किया गया. थाने के लिए नये भवन की खातिर भूमि चिन्हित है. उस पर जल्द ही निर्माण कार्य भी शुरू होगा, तब तक के लिए अस्थाई तौर पर जनता की सुविधाओं और परेशानियों को देखते हुए इसी चौकी में बैरक का निर्माण किया गया है. साथ थाना संचालित करने के लिए प्राप्त मात्रा में सुविधा प्रदान कर दी गयी है. इसके लिए चौकी इंचार्ज ने बहुत मेहनत की है. जनपद पुलिस का प्रयास है कि एक सप्ताह के अन्दर ही एफआईआर और जीडी की कार्यवाही की शुरुआत कर दे.

68 गांवों को मिलेगी सुरक्षापुलिस अधीक्षक ने बताया कि कई सारी व्यवस्था को पूरा कर लिया गया है, बाकी जो शेष उसे 22 अगस्त तक पूरा कर लिया जायेगा. उन्‍होंने कहा कि 22 तारीख से रामपुर थाने का पूर्ण रूप से संचालन शुरू कर दिया जायेगा. अभी थाने पर जनशक्ति की संख्या चौकी के हिसाब से है. अगले 48 घंटे के अन्दर 40 से 50 की संख्या में पुलिस के जवान तैनात कर दिये जाएंगे. इस थाना क्षेत्र में 68 गांव आएंगे, जिसकी सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी थाने के ऊपर रहेगी. इसलिए जो भी थाने की जरूरत होगी वो सभी जल्द से जल्द पूरी कर दी जायेगी.

बता दें कि अभी तक जनपद में 11 थाने जनता के सुविधाओं और परेशानियों के लिए संचालित हो रहे थे, जिनमें मधुबन, दोहरीघाट, घोसी, कोपागंज, मोहम्मदाबाद, सरायलखंशी, चिरैयाकोट, रानीपुर, नगर कोतवाली, हलधरपुर और दक्षिण टोला हैं. मधुबन थाने से निकल कर रामपुर थाने का निर्माण किया गया है, जो 68 गांव की पैनी निगरानी करेगा. इसलिए जिले में अब थानों की संख्या 12 हो गयी है.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *