आजमगढ़ में महिला प्रधान के बेटे ने पार्टी में बुलाकर पिता-पुत्र की गोली मारकर की हत्या, तनाव के बाद PAC तैनात

[ad_1]

आजमगढ़ में महिला प्रधान के बेटे ने पार्टी में बुलाकर पिता-पुत्र की गोली मारकर की हत्या, तनाव के बाद PAC तैनात

आजमगढ़ में ग्राम प्रधान के बेटे ने पिता-पुत्र की गोली मारकर हत्या कर दी.

आजमगढ़ पुलिस (Azamgarh Police) की शुरुआती जांच में पता चला है कि ग्राम प्रधान का बेटा लाल बहादुर यादव ने घर में पार्टी रखी थी. इस पार्टी में हीरालाल यादव अपने बेटे के साथ आया था. यहां ग्राम प्रधान चुनाव को लेकर कहासुनी हुई, जिसमें लाल बहादुर ने पिता-पुत्र की गोली मारकर हत्या कर दी.

 आजमगढ़. आजमगढ़ में गुरुुवार की शाम देवगांव कोतवाली के नाऊपुर घोड़सहना गांव में पिता और पुत्र की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई. हीरालाल यादव अपने पड़ोसी ग्राम प्रधान के घर पर पार्टी कर रहा था. इस दौरान प्रधान के बेटे की तरफ से हीरालाल के ऊपर ताबड़तोड़ गोली चलाकर उसे मौत के घाट उतार दिया. बचाव में दौड़े बेटे को भी गोली मार दी, जिससे उसकी भी मौत हो गई.

पुलिस ने जब मरने वाले का रिकार्ड खंगाला तो पता चला की मृतक हीरालाल पर एक दर्जन से अधिक हत्या, लूट सहित अन्य आपारिक घटनाओं को अंजाम देने के मामले में मुकदमें दर्ज़ हैं. पुलिस के मुताबिक, घटना को अंजाम देने वालों का भी रिकार्ड खराब होने की जानकारी मिली है. आरोपियों में एक महिला प्रधान का बेटा भी शामिल है.

आरोपी लाल बहादुर यादव की भी आपराधिक छवि
देवगांव कोतवाली क्षेत्र के घुड़सहना नाऊपुर ग्राम पंचायत के रसूलपुर दुधहर गांव के ग्राम प्रधान पुत्र लाल बहादुर यादव आपराधिक छवि का है. वहीं, हीरालाल देवगांव कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर है. पांच बार से लगातार लाल बहादुर यादव के घर से ही ग्राम प्रधान चुना जा रहा है. जानकारी के अनुसार, हीरालाल उर्फ मिठाई लाल यादव इस बार ग्राम प्रधानी की चुनाव में ताल ठोकने की तैयारी में था. दोनों के बीच घरेलू सम्बन्ध भी थे.प्रधानी चुनाव से हटने का बनाया था दबाव

गुरुवार को लाल बहादुर यादव ने अपने घर पार्टी रखी और इसमें हीरालाल यादव को आमंत्रित किया. हीरालाल अपने पुत्र तेज यादव के साथ प्रधान पुत्र की पार्टी में शामिल हुआ. बताया जा रहा है कि पार्टी के दौरान लाल बहादुर यादव हिस्ट्रीशीटर हीरालाल यादव के पर चुनाव से हटने का दबाव बनाने लगा. इसी बीच कहासुनी हो गई. बात बढ़ी और इसी दौरान लाल बहादुर यादव ने अपने साथियों के साथ मिलकर हीरालाल और उसके पुत्र तेज बहादुर पर फायरिंग झोंक दिया. हमले में हीरालाल यादव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसका पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लालगंज ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई.

पिता-पुत्र की हत्या के बाद भड़के ग्रामीण
पिता और पुत्र की हत्‍या के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए. उन्होंने रात को जमकर हंगामा काटा और सड़क जाम कर प्रदर्शन किया. सूचना के बाद पुलिस के आला अधिकारी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए मौके पर पीएसी बल को भी बुलाया गया. गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है.

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी

पुलिस अधीक्षक प्रोफेसर त्रिवेणी सिंह ने बताया कि प्रधान पुत्र लालब हादुर यादव के घर पार्टी थी. पार्टी में लाल बहादुर यादव ने हिस्ट्रीशीटर हीरालाल यादव उर्फ मिठाई यादव को भी आमंत्रित किया था. हीरालाल यादव अपने पुत्र के साथ पार्टी में शामिल हुआ. इसी दौरान किसी बात को लेकर दोनों में आपस में कहासुनी हुई. इस दौरान लालबहादुर ने अपने साथियों के साथ हीरालाल यादव और उसके पुत्र की गोली मारकर हत्या कर दी. पुलिस की टीमें हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही हैं.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *