आंध्र प्रदेश में लॉकडाउनः शराब नहीं मिली तो पिया 99 पर्सेंट अल्कोहल वाला सैनिटाइजर, 9 की मौत


अमरावती

आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में एक अजीब मामला सामने आया है। यहां पर लॉकडाउन के चलते शराब न मिलने पर कई लोगों ने सैनिटाइजर पी लिया। सैनिटाइजर पीने से नौ लोगों की मौत हो गई है। 20 से ज्यादा और ऐसे लोग हैं जिन्होंने माना है कि उन्होंने भी सैनिटाइजर पिया है। सैनिटाइजर पीने से हुई इन मौतों के बाद प्रदेश में हड़कंप मच गया है।

मामला कुरीचेडु इलाके का है। बताया जा रहा है कि सैनिटाइजर पीने से पहली मौत बुधवार को हुई थी। तीन लोगों ने गुरुवार को और छह लोगों ने शुक्रवार सुबह दम तोड़ दिया। पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है।

दस दिनों से है लॉकडाउन

पुलिस ने बताया कि मरने वालों की उम्र 25 से 65 साल के बीच की है। एसपी सिद्धार्थ कौशल ने बताया कि शहर में बीते दस दिनों से लॉकडाउन चल रहा है। सारी शराब की दुकानें बंद हैं। शराब न मिलने से पियक्कड़ों ने तलब शांत करने के लिए सैनिटाइजर पिया था।

स्थानीय दुकानों से सैनिटाइजर जब्त

जांच में सामने आया है कि दुकानों से भारी मात्रा में सैनिटाइजर बिक रहा है और लोग उसे शराब की जगह पी रहे हैं। एसपी ने बताया कि स्थानीय दुकानों से सारे सैनिटाइजर जब्त कर लिए गए हैं, सैंपलों को लैब में जांच के लिए भेजा गया है।

जांच कर रही पुलिस

एसपी ने बताया कि मरने वालों दस लोगों में तीन भिखारी थे। पुलिस अब यह पता लगाने की कोशिश में जुटी है कि इस तरह के और कितने मामले सामने आ रहे हैं। एसपी ने बताया कि अब इस बात की जानकारी की जा रही है कि सिर्फ सैनिटाइजर पीने से ही सबकी मौत हुई है या फिर उन्होंने उसमें और भी कोई केमिकल मिलाया था।

4 मई को खुली थीं दुकानें, 10 दिन पहले फिर से हुई थीं बंद

देशव्यापी लॉकडाउन के बाद 50 दिनों तक राज्य में शराब की दुकानें बंद रहीं। आंध्र प्रदेश सरकार ने बीती 4 मई को शराब की दुकानें फिर से खोली थीं। शराब की दुकानों के बाहर लंबी लाइन से पियक्कड़ों की लत साफ झलक रही थी। सरकार ने शराब के दामों में भारी बढ़ोत्तरी की और दुकानों की संख्या भी कम कर दी लेकिन लोगों की लत कम नहीं हुई।

मोबाइल ऐप डाउनलोड करें और रहें हर खबर से अपडेट।



Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *