अयोध्या, मुजफ्फरनगर सहित 8 जिलों में आज हल्की बारिश, 9 अगस्त से 3 दिन के लिए UP में Orange Alert

[ad_1]

अयोध्या, मुजफ्फरनगर सहित 8 जिलों में आज हल्की बारिश, 9 अगस्त से 3 दिन के लिए UP में Orange Alert

यूपी के कई जिलों आज हल्की बारिश का अनुमान है.

मौसम विभाग (Met Department) का अनुमान है कि 9, 10 और 11 अगस्त को उत्तर प्रदेश में अच्छी बारिश होगी. वहीं आज शनिवार को जिन जिलों में हल्की बारिश की संभावना है वे हैं- बलरामपुर, गोंडा, बाराबंकी, अयोध्या, बस्ती, श्रावस्ती, बिजनौर और मुजफ्फरनगर.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मौसम को लेकर मौसम विभाग (Met Department) में ताजा अनुमान जारी कर दिया है. इसके मुताबिक बारिश (Rainfall) के लिए 1 दिन का इंतजार और बढ़ गया है. कल शुक्रवार को जारी अनुमान के मुताबिक 8 अगस्त से पूरे प्रदेश में अच्छी बारिश की संभावना जताई गई थी लेकिन अब मौसम विभाग का अनुमान है कि 9, 10 और 11 अगस्त को प्रदेश में अच्छी बारिश होगी.

ताजा अनुमान में पूर्वी से लेकर पश्चिमी यूपी तक कई जिलों में बारिश की संभावना जताई गई है. इन 3 दिनों के लिए ऑरेंज अलर्ट (Orange Alert) जारी करते हुए मौसम विभाग में एक-दो जगहों पर भारी से बहुत भारी बारिश की भी संभावना जताई है. साथ ही बादलों की तेज गड़गड़ाहट और आकाशीय बिजली से भी लोगों को सावधान किया गया है.

इन 8 जिलों में आज हल्की बारिश की संभावना

आज शनिवार 8 अगस्त को प्रदेश के कुछ जिलों में छिटपुट बारिश की संभावना है. बाकी सभी जिलों में लोगों को तेज धूप और उमस का सामना करना पड़ेगा. हालांकि बीच-बीच में बादलों की आवाजाही जारी रहेगी लेकिन किसी भी जिले में ज्यादा बारिश की कोई संभावना नहीं है. जिन जिलों में हल्की बारिश की संभावना है वे हैं- बलरामपुर, गोंडा, बाराबंकी, अयोध्या, बस्ती, श्रावस्ती, बिजनौर और मुजफ्फरनगर.शुक्रवार को प्रदेश में कहीं नहीं हुई बारिश

जैसा कि मौसम विभाग ने अनुमान जताया था, शुक्रवार को प्रदेश में सुल्तानपुर को छोड़कर बाकी कहीं बारिश नहीं दर्ज की गई. सुल्तानपुर में मामूली 2.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. प्रदेश के बाकी जिले सूखे ही रहे. पिछले चार-पांच दिनों से बारिश में आई कमी के कारण पूर्वाचल और तराई के बाढ़ग्रस्त जिलों को जल्दी राहत मिलने की उम्मीद बढ़ गई है. खतरे के निशान से ऊपर बह रही सभी नदियों का जलस्तर काफी नीचे आ गया है. सिंचाई विभाग ने उम्मीद जताई है कि नदियों का जलस्तर नीचे आने से इलाकों में भरा पानी इनके जरिए निकल सकेगा.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *