अखिलेश ने कसा BJP पर तंज, बोले-पहले ‘नकली किताब’ का धंधा करने वालों को पढ़ाएं नैतिक शिक्षा का पाठ

[ad_1]

अखिलेश ने कसा BJP पर तंज, बोले-पहले 'नकली किताब' का धंधा करने वालों को पढ़ाएं नैतिक शिक्षा का पाठ

अखिलेश ने कसा BJP पर तंज (file photo)

दरअसल मेरठ के परतापुर थाना अंतर्गत स्थित एक प्रकाशक के यहां छापा मारकर मेरठ पुलिस और एसटीएफ की टीम ने एनसीईआरटी (NCERT) की 35 करोड़ की नकली किताबें बरामद की है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    August 22, 2020, 12:30 PM IST

लखनऊ/मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ में एनसीईआरटी (NCERT) की नकली किताब छापने वाले गिरोह का एसटीएफ (UP STF) की टीम ने पर्दाफाश कर दिया है. इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने मेरठ में एनसीईआरटी की 35 करोड़ की डुप्‍लीकेट किताबें पकड़े जाने को लेकर भाजपा पर निशाना साधा है. शनिवार सुबह एक ट्वीट में उन्‍होंने लिखा कि शिक्षा-नीति में बदलाव करने वाली भाजपा पहले अपने उन नेताओं को नैतिक-शिक्षा के पाठ पढ़ाए जो करोड़ों रूपये के ‘नकली किताबों’ के गोरखधंधे में संलिप्त हैं. सपा अध्‍यक्ष ने लिखा कि नक़ली ईमानदारी का चोगा ओढ़े लोगों का सच अब सामने आ गया है.

मेरठ पुलिस और एसटीएफ के ज्वाइंट ऑपरेशन में करीब 35 करोड़ की नकली किताबें और मशीनरी बरामद हुई हैं. पुलिस ने फैक्ट्री और गोदाम समेत 3 जगहों को सील कर दिया है साथ ही एक दर्जन से ज्यादा लोग हिरासत में ले लिए गए हैं. छापेमारी के दौरान गैंग के सरगना का पॉलिटिकल कनेक्शन के सामने आया है. कई दस्तावेज जलाए गए हैं, जिनकी जांच में फॉरेंसिक, पुलिस, एसटीएफ, जीएसटी और एनसीईआरटी समेत कई एजेंसियां इस मामले की जांच में जुट गए हैं.

दरअसल मेरठ के परतापुर थाना अंतर्गत स्थित एक प्रकाशक के यहां छापा मारकर मेरठ पुलिस और एसटीएफ की टीम ने एनसीईआरटी की 35 करोड़ की नकली किताबें बरामद की है. टीम ने मौके से दर्जनभर लोगों को हिरासत में ले लिया. एनसीईआरटी का देश भर में एक ही कोर्स है, जिसके प्रकाशन का अधिकार दिल्ली के कुछ चुनिंदा प्रकाशकों को ही है. कई राज्यों में होती है सप्लाई

पूछताछ में पता चला कि किताबें प्रकाशित कर उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, दिल्ली समेत कई राज्यों में सप्लाई की जाती थीं. अधिकांश किताबें 9वीं से 12वीं तक की फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ्स की हैं. इस फैक्ट्री में एनसीईआरटी व अन्य की करीब 364 तरह की नकली किताबें छापी जाती थीं. पुलिस ने बताया कि प्रकाशक की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है.



[ad_2]

Source link

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *